भारत अगले वर्ष के अंत तक covid vaccine की 5 अरब डोज बनाने को तैयार-प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

Written by

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कोविड महामारी की रोकथाम में भारत के योगदान और एक धरती एक स्‍वास्‍थ्‍य की परिकल्‍पना पर बल दिया है। रोम में कल जी-20 शिखर सम्मेलन के पहले सत्र में प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा कि भारत अगले वर्ष के अंत तक पांच अरब से अधिक कोविड टीके की खुराक बनाने को तैयार है।  उन्‍होंने स्‍वास्‍थ्‍य देखभाल, आसान वैश्विक आपूर्ति श्रृंखला और मानव सशक्तिकरण के लिए समान रूप से प्रौद्योगिकी उपलब्‍ध कराने के बारे में चर्चा की। बाद में कई ट्वीट संदेशों में प्रधानमंत्री ने शिखर सम्‍मेलन की कल की कार्यवाही को व्‍यापक और रचनात्‍मक बताया। उन्‍होंने कहा कि यह महत्‍वपूर्ण है कि वैश्विक हित के लिए सभी राष्‍ट्र एकजुट होकर काम करें। शिखर सम्‍मेलन का कल का सत्र वैश्विक अर्थव्‍यवस्‍था और वैश्विक स्‍वास्‍थ्‍य पर केंद्रित था।  

जी-20 शिखर सम्‍मेलन से अलग प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने USA, France, UK, Canada और Germany के राष्‍ट्राध्‍यक्षों से मुलाकता की। प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी संयुक्‍त राष्‍ट्र महासचिव अंतोनियो गुत्‍तरश और विश्‍व स्‍वास्‍थ्य संगठन के महानिदेशक टेड्रोस अधनॉम गेब्रियासिस सहित कई विश्‍व नेताओं से भी मिले।

मोदी और फ्रांस के राष्‍ट्रपति इमैनुअल मैक्रो के बीच द्विपक्षीय बैठक में दोनों नेताओं ने व्‍यापक रणनीतिक साझेदारी पर संतोष व्‍यक्‍त किया। प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने सिंगापुर के प्रधानमंत्री ली-सियेन लूंग के साथ भी द्विपक्षीय बैठक की। बैठक में व्‍यापार, और संस्‍कृति के अलावा जलवायु परिवर्तन से निपटने के वैश्विक उपायों और संयुक्‍त राष्‍ट्र जलवायु संधि में शामिल देशों के आगामी सम्‍मेलन पर विचार-विमर्श हुआ। कोविड महामारी की रोकथाम के लिए टीकाकरण तेज करने और जरूरी दवाओं की आपूर्ति सुनिश्चित करने पर भी बातचीत हुई।

इससे पहले प्रधानमंत्री मोदी वैटिकन सिटी में पोप फ्रांसिस से मिले और कोविड महामारी तथा पूरे विश्‍व के लोगों पर इसके असर पर विचार विमर्श किया। उन्‍होंने जलवायु परिवर्तन की चुनौती पर भी चर्चा की। प्रधानमंत्री ने पोप फ्रांसिस को जलवायु परिवर्तन की रोकथाम के लिए भारत के उपायों और देश में एक अरब से अधिक कोविड टीके लगाने के बारे में बताया।

विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला ने संवाददाताओं को बताया कि प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने जी-20 देशों से आर्थिक बहाली और आपूर्ति श्रृंखला की विविधता में भारत को साझीदार बनाने की अपील की।

पिछले दो दशक से भी अधिक समय में किसी भारतीय प्रधानमंत्री और पोप के बीच यह पहली बैठक थी। आज जी-20 शिखर सम्‍मेलन का दूसरा और समापन दिवस है।

Article Categories:
News

Comments are closed.

Shares