सबूत मांगने वालों, आँखें फाड़ कर देख लो, रडार तो झूठ नहीं बोलेगा ? : F-16 विमान IAF ने ही गिराया, अमेरिकी मैगज़ीन का दावा पूर्णतः तथ्यहीन

भारतीय वायुसेना (IAF) ने पाकिस्तानी सेना के एफ-16 विमान को मार गिराने को लेकर सवाल उठाने वाली अमेरिकी मैगजीन फॉरेन पॉलिसी (FP) और एफपी को आधार बना कर मोदी सरकार तथा सेना पर सवाल खड़े करने वाले फारूक़ अब्दुल्ला सहित सभी नेताओं को सोमवार को मुंहतोड़ जवाब दिया।

वायुसेना की ओर से सोमवार को विधिवत पत्रकार परिषद आयोजित करके एयर मार्शल आरजीके कपूर ने दावा किया कि गत 27 फरवरी की सुबह पाकिस्तानी वायुसेना के विमानों ने भारतीय वायुसीमा में प्रवेश करने की कोशिश की, जो जो हमारे रडार में पकड़े गये। इसके बाद हमारे SU 30 MKI, MIRAGE-2000 और MIG-21 BISON लड़ाकू विमानों ने उनका रास्ता रोका और उन्हें वापस जाने के लिये विवश किया। इस बीच पाकिस्तानी वायुसेना के एमराम मिसाइलों से लैस एफ-16 लड़ाकू विमान ने कुछ किलोमीटर अंदर घुस कर भारत के सैन्य अड्डों को निशाना बना कर मिसाइल गिराने की कोशिश की थी, जिसे हमारे MIG-21 BISON लड़ाकू विमान के विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान ने नाकाम कर दिया।

कपूर ने बताया कि अभिनंदन द्वारा गिराये गये एफ-16 विमान के कुछ टुकड़े पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (POK) में गिरे तो, कुछ हिस्से हमारे हाथ भी लगे हैं, जो हमारे पास सबूत के तौर पर मौजूद हैं। हालांकि इस दौरान अन्य पाकिस्तानी लड़ाकू विमानों ने अभिनंदन के विमान को घेरकर उसे भी मार गिराया। अभिनंदन पैराशूट के सहारे विमान से कूद गये, हालांकि हवा के तेज झौंके उन्हें पाकिस्तान के कब्जेवाले कश्मीर में ले गये, जहां वह पाकिस्तानी सेना के हाथों पकड़े गये थे। हालांकि भारत के कड़े दबाव में 1 मार्च को ही पाकिस्तान को उन्हें रिहा भी करना पड़ा था।

उन्होंने ने कहा कि उसके पास सबूत के तौर पर AIRBORNE EARLY WARNING AND CONTROL SYSTEM (AWACS) में दर्ज हुए पाकिस्तानी वायुसेना के भारतीय वायुसीमा में प्रवेश करने के 27 फरवरी की सुबह के सारे रिकॉर्ड मौजूद हैं। इसके अलावा मार गिराये गये एफ-16 के टुकड़े और उसमें लोडेड पाकिस्तान की मीडियम रेंज की मिसाइल AIMRAM के टुकड़ों के सबूत भी मौजूद हैं।

वायुसेना का यह जवाब अमेरिका की मैगजीन के उस दावे को करारा जवाब है जिसने यह दावा किया था कि अमेरिका द्वारा पाकिस्तान को दिये गये सभी एफ-16 विमान पाकिस्तान के पास मौजूद हैं और भारत का एफ-16 को मार गिराने का दावा झूठा है। अब यह मैगेजीन खुद पूरे विश्व में झूठी साबित हो रही है।

भारतीय वायुसेना का यह जवाब कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक़ अब्दुल्ला और उनके जैसे ही अन्य सभी उन नेताओं के लिये भी करारा जवाब है जो अमेरिकी मैगेजीन के दावे की आड़ लेकर पाकिस्तान के बालाकोट में भारतीय वायुसेना की ओर से की गई एयर स्ट्राइक को ही नकार रहे थे और पीएम नरेन्द्र मोदी पर झूठ बोलने का आरोप लगा रहे थे।

Leave a Reply

You may have missed