कश्मीर में घुसपैठ कराने में विफल पाकिस्तान कराची से कांडला में नया रास्ता बनाने की फिराक़ में

Written by

गुजरात के समुद्र तटों-बंदरगाहों पर HIGH ALERT

बंदरगाहों और नौसैनिक जहाजों को निशाना बनाने की आशंका

नौसेना और तटरक्षक बल की बढ़ी तैनाती

रिपोर्ट : विनीत दुबे

अहमदाबाद, 29 अगस्त, 2019 (युवाPRESS)। पंजाब और जम्मू कश्मीर में मात खाने के बाद पाकिस्तान अब नया मोर्चा खोलने की तैयारी में लग रहा है। जमीन पर भारतीय सैन्य बलों और हवा में भारतीय वायुसेना से पार नहीं पाने वाला पाकिस्तान अब पानी में नापाक हरकत करने की सोच रहा है। भारतीय खुफिया एजेन्सियों को उसकी इस नापाक हरकत की बू आ गई है और वह जिस गुजरात के समुद्री रास्ते से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के गृह राज्य में आतंकी हमला करने की कोशिश कर रहा है, उस राज्य के कांडला बंदरगाह पर हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है। इसके अलावा अन्य बंदरगाहों को भी एडवाइजरी जारी करके सतर्क और सावधान रहने के लिये कह दिया गया है।

क्या है खुफिया जानकारी ?

भारतीय नौसेना (INDIAN NAVY) और तटरक्षक बल (COAST GUARD) को खुफिया एजेंसियों से सूचना मिली है कि पाकिस्तान में प्रशिक्षित जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी कमांडो कच्छ की खाड़ी के रास्ते से गुजरात में दाखिल हो चुके हैं। इन कमांडो के बारे में यह भी सूचना मिली है कि इन कमांडो को खास तौर से पानी के अंदर से हमला करने की विशेष ट्रेनिंग दी गई है। इसलिये यह कमांडो गुजरात के समुद्री तट पर स्थित बंदरगाहों को तथा नौसैनिक जहाजों को निशाना बना सकते हैं। इस सूचना के बाद राज्य के 1600 कि.मी. लंबे समुद्री तट पर सभी छोटे-बड़े सरकारी और निजी बंदरगाहों को एडवाइजरी जारी की गई है और कहा गया है कि बंदरगाहों से जुड़े सभी अधिकारी और कर्मचारी अलर्ट रहें और कोई भी संदिग्ध वस्तु या हरकत दिखाई देने पर वह तुरंत प्रशासन को इसकी सूचना दें। अदाणी माइनिंग और मुंद्रा पोर्ट जैसी निजी कंपनियों को भी एडवाइजरी भेजी गई है। ऐसी ही एडवाइजरी दीनदयाल पोर्ट और कांडला पोर्ट के अधिकारियों को भी भेजी गई है और इन कंपनियों को सिक्योरिटी लेवल-1 का अलर्ट जारी किया गया है।

नौसेना, तटरक्षक बल, कोस्टल पुलिस अलर्ट

दूसरी तरफ खुफिया सूचना के बाद तटरक्षक बल, पोर्ट प्राधिकरण, कस्टम, कोस्टल पुलिस और नेवी को पूरे तटीय इलाके में अलर्ट रहने का निर्देश दिया गया है। समुद्री तटों पर और बंदरगाहों वाले इलाकों में सुरक्षा बलों की भारी तैनाती भी कर दी गई है। नौसेना चीफ एडमिरल करमबीर सिंह ने कहा है कि ‘हम देशवासियों को विश्वास दिलाते हैं कि इसको लेकर हम पूरी तरह से सतर्क हैं।’

श्रीलंका से तमिलनाडु में घुसपैठ की भी जाँच जारी

उल्लेखनीय है कि इससे पहले चार आतंकियों के दाखिल होने की सूचना को लेकर पूरे देश में हाई अलर्ट जारी किया गया था। पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी इंटर सर्विसेज इंटेलिजेंस (ISI) के एजेंट के साथ चार आतंकी भारत में दाखिल हुए होने की सूचना पर राजस्थान और गुजरात की पाकिस्तान से सटी सीमा सहित पूरे देश में हाई अलर्ट जारी किया गया था। इससे कुछ दिन पहले देश की खुफिया एजेंसियों को जानकारी मिली थी कि लश्करे-तैयबा के छह आतंकवादी श्रीलंका से तमिलनाडु के रास्ते भारत में घुसे हैं। इसके बाद दक्षिण भारत के समुद्री तटों पर हाई अलर्ट की घोषणा की गई थी। विभिन्न राज्यों में भी इसको लेकर सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है। इस सिलसिले में पूछताछ के लिये छह लोगों को हिरासत में भी लिया गया है, जिन पर आतंकवादियों से संपर्क में होने का संदेह है। इन्हें गुप्त स्थान पर रखकर इनसे पूछताछ की जा रही है। उधर केरल के रक्षा प्रवक्ता ने कहा कि खुफिया सूचना के आधार पर भारतीय नौसेना समुद्र में और तटीय इलाकों में स्थिति पर पैनी नज़र बनाये हुए है।

भारत से तनाव के बीच पाकिस्तान के नापाक प्रयास

ज्ञात हो कि पाकिस्तान ने करांची एयरस्पेस भारतीय विमानों के लिये बंद कर दिया है। दूसरी तरफ पाकिस्तान ने जम्मू कश्मीर में फिर से सीज़फायर का उल्लंघन करते हुए मोर्टार दागे हैं, जिसका भारतीय सेनाओं की ओर से भी जवाब दिया जा रहा है। इसके अलावा भारत के साथ तनाव के बीच गुरुवार को पाकिस्तान ने परमाणु हथियार वहन करने में सक्षम गजनवी बैलेस्टिक मिसाइल का भी परीक्षण किया है।

घुसपैठ के नये-नये विकल्प तलाश रहा है पाकिस्तान

गुजरात और तमिलनाडु में समुद्र के रास्ते आतंकियों की घुसपैठ कराने की कोशिश दर्शाती है कि जम्मू कश्मीर में भारतीय सुरक्षा बलों की कड़ी चौकसी के चलते पाकिस्तान के लिये वहाँ आतंकियों की घुसपैठ कराना मुश्किल हो रहा है, जिससे वह आतंकियों को भारत में घुसपैठ कराने के नये रास्ते तलाश रहा है और कदाचित इसी कारण वह तमिलनाडु और गुजरात में नया मोर्चा खोलने की कोशिश में जुटा है।

Article Categories:
News

Comments are closed.

Shares