अब रेलवे में मिलने वाले खाने पीने की वस्तु पर लगेगा 5 प्रतिशत जीएसटी

Written by
Indian Railways

नई दिल्लीः- Indian Railways तथा IRCTC की के जानीब से ट्रेन पर मिलने वाले खाने और पीने की चीजों पर 5 प्रतिशत का वस्तु एवं सेवा कर (GST) लगाया जाएगा। यह जानकारी वित्त मंत्रालय की जानीब से दी गई है।

दरअसल वित्त मंत्रालय ने शुक्रवार की रोज जानकारी देते हुए बताया कि Indian Railways या IRCTC द्वारा गाड़ियों, प्लेटफार्म या रेलवे स्टेशन पर आपूर्ति किए जाने वाले भोजन व पेयों पर पांच प्रतिशत माल व सेवा कर जीएसटी लगेगा। हांलांकि वित्त मंत्रालय ने 31 मार्च को ही इस बारे में Railway Board को पत्र भेजा था। ताकि किसी भी तरह के संदेह या अनिश्चितता को दूर किया जा सके।

बतायाय जा रहा है कि वित्त मंत्रालय द्वारा उठाए गए इस कदम से गाड़ियों, प्लेटफार्म या रेलवे स्टेशन पर उपलब्ध खाद्य पदार्थों व पेयों पर लागू GST दर में समानता आएगी। हांलांकि जारी एक बयान में कहा गया है, ’’ यह स्पष्ट किया जाता है कि Indian Railways या ndian Railway Catering and Tourism Corporation (IRCTC) या इनके लाइसेंसधारक द्वारा रेलगाड़ी, प्लेटफार्म में उपलब्ध करवाए जाने वाले भोजन व पेय पदार्थों पर बिना इनपुट टैक्स क्रेडिट के पांच प्रतिशत की दर से GST लगेगा ’’।

गोरतलब यह है कि देश में इस नई कर प्रणाली जीएसटी की प्रारंभ 1 जुलाई 2017 से हुई थी। हांलांकि रेल मंत्री पीयूष गोयल ने गत दिनों ट्रेन और स्टेशन पर खानपान में यात्रियों से अवैध वसूली रोकने के लिए बिल अनिवार्य कर दिया। मगर इस आदेश के बाद GST में रेलवे का खेल सामने आ गया है। स्टेशन पर खानपान में जहां 5 प्रतिशत GST वसूला जा रहा है, वहीं इसी खाने पर ट्रेन में 18 प्रतिशत टैक्स लिया जा रहा है।

बता दें कि शताब्दी-राजधानी में तो टिकट में ही यात्रियों से 18 प्रतिशत GST लिया जा रहा है, इसी तरह अन्य ट्रेनों में भी 18 प्रतिशत GST लिया जाता है।

हांलांकि स्टेशन पर पहले जीएसटी 12 फीसदी था, जिसे घटाकर पांच फीसदी कर दिया गया। जारी एक सर्कुलर के अनुसार 1 जुलाई से 18 प्रतिशत GST लेने का आदेश जारी किया गया था। यह भी स्पष्ट किया गया कि शताब्दी-राजधानी व दुरंतो के टिकट किराये में ही GST जुड़ा होगा।

Article Categories:
News

Leave a Reply

Shares