पीएम मोदी बोलें – कुछ राजनीतिक पार्टी लॉलीपोप देकर कर्नाटक चुनाव जीतना चाह रहे हैं

Namo App Video conference - Lollipop

युवाप्रेस, कर्नाटक चुनाव न्यूज :- कर्नाटक विधानसभा चुनाव होने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के सभी कर्नाटक उम्मीदवारों से बात की और उनकी कार्यशैली के बारे में जानकारी ली। उन्होंने उम्मीदवारों से ‘नरेंद्र मोदी एप’ के जरिए संवाद किया। इस बताचीत के दौरान श्री मोदी ने लिंगायत समुदाय के मुद्दे को लेकर कांग्रेस पर तीखे वार किया और कहा कि जो लोग जाति को लेकर राजनीति करते हैं उन से विकास की उमिद लगाना बेइमानी होगी। इसके साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कांग्रेस पर चुटकी ली और कहा कि कुछ लोग चुनाव प्रचार के दौरान एक जाति विशेष को लॉलीपॉप (Lollipop) थमा देते हैं और फिर चुनाव में उस समुदाय का युज करते हैं। इसी प्रकार से वे चुनाव में हर नए ग्रुपों को Lollipop देने का कार्य करते हैं लेकिन उन्हें ये नहीं पता की यह जनता है जो सब जानती है।

Karnataka Election 2018

राजनीतिक पार्टियों को केवल चुनाव जीतने के लिए राजनीति नहीं करनी चाहिए बल्कि विकास की बात करनी चाहिए तथा चुनवा जीतने के बाद विकास पर कार्य करना चाहिए। इस बार कर्नाटक चुनाव प्रचार में हर तरह की राजनीति कांग्रेस और बीजेपी में देखने को मिल रही है। बता दें कि कुछ दिनों पहले ही कांग्रेस ने चुनाव प्रचार में लिंगायत कार्ड खेला था और इसी लिंगायत कार्ड को लेकर पीएम मोदी ने कांग्रेस पर हमला बोला।

प्रधानमंत्री मोदी ने आगे कहा कि इस समय सभी राजनीतिक पार्टियों को इमानदारी के साथ विकास के मुद्दे पर चुनाव लड़ना चाहिए। जो लोग चुनाव प्रचार के दौरान जाति कि बात करते हैं वे लोग विकास की बात कभी भी नहीं कर सकते हैं। इसके बाद श्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी केवल विकास के मुद्दे पर चुनाव लड़ती है न कि Lollipop  देकर। हमारी ताकत हमारे देश के युवा लोग है जो यह सब समझते है कि कौन विकास की बात करता है और कौन जाति की बात करते हैं। हमारी इस शक्ति से विरोधी दल परेशान है और वे हमे परास्त नहीं कर सकते हैं।

कर्नाटक विधानसभा चुनाव का जब एलान हुआ था उस समय राज्य के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने लिंगायत समुदाय को अलग धर्म का दर्जा देने का लिंगायत कार्ड खेला था। इसको अलग धर्म बनाने के लिए कानून बनाकर केंद्र सरकार के पास भेज दिया था कि इसे पास करे। सिद्धारमैया के इस फैसले को लेकर कांग्रेस और बीजेपी में काफी बयान बाजी हुई। दूसरी तरफ भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने भी सिद्धारमैया के द्वार किये गये इस फैसले को गलत ठहरा दिया था। कुछ सूत्रों से ज्ञात हुआ है कि कर्नाटक विधानसभा चुनाव में प्रचार के लिए पीएम मोदी एक मई से औपचारिक रूप से कर्नाटक में चुनाव प्रचार आरम्भ करेंगे। बताया जा रहा है कि राज्य के उडुपी में एक मई को पीएम मोदी पहली चुनावी रैली को संबोधित करते नजर आ सकते हैं। बता दें कि कर्नाटक में 225 विधानसभा सीट हैं और यहा पर 224 सीटों पर 12 मई को वोटिंग होगी। 15 मई को वोटों की गिनती की जाएगी। कर्नाटक में एक सीट आंग्ल-इंडियन के लिए आरक्षित है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *