Kerala Government Republic Day Circular: Left और RSS आमने-सामने

Written by
Kerala Government Republic Day Circular

केरल में वामपंथ (Left) और RSS के बीच की प्रतिद्वंदिता किसी से छुपी नहीं है। अब केरल सरकार सरकार के नए सर्कुलर से इस प्रतिद्वंदिता के और बढ़ने के आसार पैदा हो गए हैं। दरअसल केरल सरकार ने एक सर्कुलर (Kerala Government Republic Day Circular) निकाला है, जिसके तहत केरल के स्कूलों, एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स में सिर्फ विभागाध्यक्ष ही राष्ट्रीय ध्वज फहरा सकते हैं। बताते चलें कि RSS चीफ मोहन भागवत26 जनवरी को केरल के पलक्कड़ में एक सरकारी सहायता प्राप्त स्कूल में राष्ट्रीय ध्वज फहराने वाले हैं। अब केरल सरकार के नए आदेश के बाद सरसंघचालक मोहन भागवत की यह योजना खटाई में पड़ सकती है।

Kerala Government Republic Day Circular

केरल सरकार के 26 जनवरी से संबंधित इस सर्कुलर पर भाजपा (BJP) और आरएसएस (RSS) ने निशाना साधा है। आरएसएस के प्रवक्ता राकेश सिन्हा ने केरल सरकार के इस कदम को सत्तावादी कदम बताया है। आरएसएस ने केरल सरकार पर सीधा निशाना साधते हुए कहा कि “ताजा सर्कुलर सिर्फ आरएसएस चीफ मोहन भागवत को पलक्कड़ के एक स्कूल में तिरंगा फहराने से रोकने के मकसद से जारी किया गया है।” RSS प्रवक्ता राकेश सिन्हा ने इस सर्कुलर को केरल सरकार के पतन की शुरुआत बताया है।

ट्वीट करते हुए राकेश सिन्हा ने कहा कि “केरल की पी. विजयन सरकार ने ताजा सर्कुलर गणतंत्र दिवस की भावना के खिलाफ है। केरल सरकार ने गणतंत्र दिवस को आजादी के उत्सव के बजाए अपनी पार्टी का निजी मामला बना दिया है।” राकेश सिन्हा ने कहा कि “अब वो कथित बुद्धिजीवी कहां है ? क्या अब वो गूंगे और बहरे हो गए हैं, जो उन्हें दिखायी नहीं दे रहा कि केरल सरकार किस तरह से सरसंघचालक मोहन भागवत को तिरंगा फहराने से रोक रही है !”

Kerala Government Republic Day Circular

उल्लेखनीय है कि  पिछले साल 15 अगस्त को भी सरसंघचालक मोहन भागवत को केरल के एक स्कूल में तिरंगा फहराने से रोक दिया गया था।

Article Categories:
News

Leave a Reply

Shares