बिलखती ‘बाँसुरी’ : जानिए कौन और क्या करती हैं सुषमा की इकलौती बेटी ?

Written by

रिपोर्ट : कन्हैया कोष्टी

अहमदाबाद 7 अगस्त, 2019 (युवाPRESS)। भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी-BJP) की वरिष्ठ नेता, देश की पूर्व विदेश मंत्री और दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री सुषमा स्वराज के निधन ने जहाँ भाजपा, उसके नेताओं सहित पूरे देश को शोक को डुबो दिया, वहीं सुषमा की इकलौती बेटी बाँसुरी स्वराज बुरी तरह बिलखती नज़र आईं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी जब सुषमा स्वराज को श्रद्धांजलि देने उनके घर पहुँचे, तब भी बाँसुरी का रो-रोकर बुरा हाल था। मोदी ने जहाँ बाँसुरी के सर पर हाथ रख कर ढाढस बंधाया, वहीं आडवाणी की पुत्री प्रतिभा भी बाँसुरी के गले लग कर ख़ूब रोईं।

सुषमा स्वराज 70 के दशक के सार्वजनिक जीवन में थीं, तो उनके पति स्वराज कौशल भी राज्यसभा सांसद और राज्यपाल के रूप में सार्वजनिक जीवन में थे, परंतु इन दोनों की एकमात्र पुत्री बाँसुरी ने अपने माता-पिता की राजनीतिक नहीं, अपितु व्यावसायिक विरासत को आगे बढ़ाने का निर्णय किया और वह राजनीति से कोसों दूर रहीं। सुषमा स्वराज व्यवसाय से अधिवक्ता थीं। इसीलिए उन्होंने विवाह भी वक़ालत के पेशे से ही जुड़े अपने सहकर्मी स्वराज कौशल से किया। बाद में सुषमा और स्वराज दोनों ही राजनीति में भी आ गए, परंतु बाँसुरी राजनीति से दूर रहीं और उन्होंने वक़ालत को ही अपना व्यवसाय बनाए रखा। 38 वर्षीय बाँसुरी ने ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय से स्नातक की डिग्री हासिल की और इनर टेम्पल से कानून में बैरिस्टर की डिग्री लेने के बाद वे पिता स्वराज कौशल की तरह क्रिमिनल लॉयर बनीं। बांसुरी वर्तमान में दिल्ली उच्च न्यायालय (HC) और उच्चतम् न्यायालय (SC) में क्रिमिनल लॉयर के रूप में प्रैक्टिस करती हैं।

ललित मोदी विवाद में उभरा बाँसुरी का नाम

बाँसुरी राजनीति से दूर अपने वक़ालत के पेशे में व्यस्त थीं, परंतु राजनीति में पहली बार उनका नाम 2014 में उछला, जब यह खुलासा हुआ कि सुषमा स्वराज की बेटी बाँसुरी स्वराज इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) के पूर्व आयुक्त ललित मोदी की विधिक टीम में शामिल थीं। घोटाले के आरोपी और भगौड़े ललित मोदी के एक ट्वीट से यह खुलासा हुआ था। दरअसल 27 अगस्त, 2014 हाई कोर्ट ने ललित मोदी का सीज़ पासपोर्ट बहाल कर दिया। हाई कोर्ट में ललित मोदी को यह जीत दिलाने वाली लीगल टीम को ललित मोदी ने ट्वीट कर बधाई दी थी। ट्वीट में लीगल टीम में शामिल 8 लोगों के नाम थे, जिसमें बाँसुरी का नाम भी था। विपक्ष ने आरोप लगाया था कि भाजपा नेता सुषमा स्वराज की बेटी देश के आर्थिक घोटाले के आरोपी की मदद कर रही है। यद्यपि भाजपा ने बचाव करते हुए कहा था कि सुषमा की बेटी का अपना व्यवसाय है और वह अपना काम करने के लिए स्वतंत्र हैं।

सुषमा के परिवार में कौन-कौन ?

सुषमा स्वराज के परिवार में इकलौती बेटी बाँसुरी के अलावा पति स्वराज कौशल हैं, जो 34 वर्ष की आयु में भारत के सबसे युवा एडवोकेट जनरल थे। स्वराज 1990 से 1993 तक मिज़ोरम के राज्यपाल रहे और 1998 से 2004 तक राज्यसभा सदस्य रहे। वर्तमान में वे एससी में वरिष्ठ अधिवक्ता के रूप में कार्यरत् हैं। पिता हरदेव शर्मा और माता लक्ष्मी देवी के यहाँ जन्मीं सुषमा के परिजनों में एक भाई गुलशन शर्मा, एक बहन वंदना शर्मा है। वंदना हरियाणा में एक कॉलेज में प्रोफेसर हैं, जबकि गुलशन आयुर्वेद चिकित्सक हैं।

Article Categories:
News

Comments are closed.

Shares