जेल, बेल और अब राजनीति के खेल में आए दलेर महेंदी, पंजाब से बन सकते हैं भाजपा के एक और STAR प्रत्याशी

Written by

लोकसभा चुनाव 2019 में भाजपा पंजाब में अपनी राजनीतिक जमीन मजबूत करने के में जुटी हुई है। इसी कड़ी में उसने पंजाब के लोकप्रिय सितारों को अपने पाले में लाने की कवायद शुरू की है। पंजाबी लोक संगीत और सूफी संगीत के मशहूर गायक पद्मश्री हंसराज हंस के बाद अब उनके समधी लोकप्रिय पंजाबी गायक दलेर मेंहदी भी अब भाजपा के पाले में आ गये हैं। इससे पहले पंजाब में दबदबा रखने वाले फिल्म अभिनेता धर्मेन्द्र के बेटे सन्नी देओल भाजपा में शामिल हुए थे।

17वीं लोकसभा के चुनाव में अनेक कलाकार राजनीति के चलचित्र में भूमिका निभाने को आतुर नज़र आ रहे हैं और सियासी दलों का दामन थाम रहे हैं। सियासी दलों को भी उनकी लोकप्रियता का राजनीतिक लाभ उठाने का मौका मिल रहा है। हालाँकि कौन कलाकार सियासी लाभ उठा पाएगा और कौन सियासी दल कलाकारों की लोकप्रियता का लाभ उठा पाएगा, यह तो चुनाव के परिणाम आने के बाद ही पता चलेगा, परंतु ऐसा माना जा रहा है कि भाजपा दलेर मेंहदी को पंजाब की किसी लोकसभा सीट से चुनाव लड़ाने का विचार कर रही है।

आपको बता दें कि पंजाब में लोकसभा की 13 सीटें हैं। यहां भाजपा ने शिरोमणि अकाली दल के साथ चुनावी गठबंधन किया है। अकाली दल 10 और भाजपा 3 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। 2014 में अकाली दल ने 4 और भाजपा ने 2 सीटों पर जीत हासिल की थी, जबकि कांग्रेस 3 और आम आदमी पार्टी ने 4 सीटें जीती थी। अभी पंजाब में कैप्टन अमरिंदर सिंह के नेतृत्व में कांग्रेस की सरकार है। इन चुनावों में भाजपा गुरदासपुर सीट से सन्नी देओल के नाम की घोषणा कर चुकी है, अभी दो सीटों पर उसे उम्मीदवारों की तलाश है। दलेर मेंहदी उसकी दूसरी तलाश हो सकते हैं। पंजाब में सातवें और अंतिम चरण में 19 मई को चुनाव होंगे। दलेर हंसराज हंस के समधी हैं। दलेर मेंहदी की बेटी अवजीत और हंस के बेटे नवराज ने 2017 में शादी की है। मशहूर पॉप सिंगर मीका सिंह दलेर मेंहदी के छोटे भाई हैं। हंस को भाजपा ने उत्तर-पश्चिम दिल्ली की लोकसभा सीट से चुनाव टिकट दिया है।

दलेर मेहंदी को पंजाब की पटियाला कोर्ट ने मानव तस्करी (कबूतरबाजी) के मामले में दोषी करार दिया गया था। अवैध रूप से लोगों को विदेश भेजने के इस मामले में मुख्य आरोपी दलेर के भाई शमशेर महेंदी हैं। पटियाला कोर्ट ने दलेर और शमशेर दोनों को दो साल की सजा सुनाई थी। हालाँकि दलेर को सजा के बाद हिरासत में लिया गया, परंतु कुछ ही घण्टों में उन्हें जमानत मिल गई। बाद में कोर्ट ने उन्हें इस आरोप से मुक्त कर दिया है। पंजाबी गायकी में धूम मचाने वाले दलेर मेहंदी जेल, बेल और अब राजनीति के खेल में हाथ आज़माने की तैयारी में हैं।

Article Categories:
News

Leave a Reply

Shares