चीन और पाकिस्तान से मालदीव की दोस्ती को लेकर भारत खतरे में

Written by
Maaladeev

नई दिल्ली: जहां एक ओर Maaladeev की अब्दुल्ला यामीन की सरकार ने आपातकाल को वापस ले लिया वहीं दूसरी ओर मालदीव के कई निणर्य भारत को नाराज कर सकते हैं। दरअसल मालदीव सरकार द्वारा ना केवल चीन को बल्कि पाकिस्तान को भी तवज्जो देना है। फिल्हाल में हुए मामले में भारत को दरकिनार करते हुए पाकिस्तान के सेना प्रमुख कमर जावेद बाजवा को बातचीत के लिए बुलाने का है। इस बात की कोई जानकारी भारत को नहीं दी गई है। गोरतलब यह है कि इंडिया फस्र्ट की नीति होने के बावजूद पहले कि सरकारों की तरह वतर्मान सरकार ने भारत के अहम मुददों पर चर्चा करके उसे विष्वास में नहीं लिया।

इस दौरान बाजवा के मालदीव के दौरे को लेकर एक भारतीय अधिकारी ने जानकारी देते हुए बताया कि वर्तमान Maaladeev सरकार चीन और पाकिस्तान से बातचीत को लेकर काफी गोपनीय है। भारतीय अधिकारी ने कहा कि इससे पहले की सरकारों में एसा नहीं होता था। वे सरकारें ऐसे किसी भी मामले में पहले भारत को विष्वास में लेती थी। उन्होंने बताया कि भारत 31 मार्च को होने वाले बाजवा के मालदीव दौरे पर नजदीकी नजर बनाए हुए हैं।

बताया जा रहा है कि गुज़िश्ता महीने 26 तारीख को हमारे सहयोगी Times of India ने बताया था कि चीन ने Maaladeev को अधिकारिक रूप से उत्तरी मालदीव में माकुनुधु के पश्चिमी एटोल पर Joint Aashan Observation सेंटर के रूप में वर्णन किया है, जो लक्षदवीप के नजदीक है। हालांकि मालदीव ने इसके लिए भारत को भी यह कहा है कि Observatory की कोई मिलिटरी योजना नहीं है। मालदीव सरकार ने Observatory के अग्रीमेंट की Copy भी भारत के साथ साझा करने से मना कर दिया था।

अधिकारिक सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पूर्व विदेश सचिव एस जयषंकर ने इस मामले को लेकर मालदीव के राजदूत अहमद मोहम्मद से स्पश्टीकरण मांगा था। मगर मोहम्मद ने अपने स्पश्टीकरण में कहा था कि चीन मालदीव Metrological Observation Center का निर्माण करना चाहता है।

हालांकि इस मामले को लेकर जब टीओआई ने मालदीव सरकार से पूछा तो एक अधिकारी ने जानकारी देते हुए बताया कि यह Metrological उददेष्य के लिए किया जा रहा है।

बहरहाल मालदीव के राश्ट्रपति की अधिकारिक वेबसाइट में इसे Joint Aashan Observation Center का नाम दिया गया था। इस मामले में अधिकारी से पूछताछ किया गया तो अधिकारी ने कहा कि हो सकता है कि वेबसाईट पर Metrological शब्द लगाना भूल गए हों।

Article Tags:
· ·
Article Categories:
News

Leave a Reply

Shares