शर्मा के बाद शमी की हैट्रिक, अफग़ान पर बने आफत और TEAM INDIA को मिली ताक़त !

Written by

अहमदाबाद, 23 जून-2019, (युवाप्रेस डॉट कॉम)। भारत के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी ICC WORLD CUP 2019 में हैट्रिक लेने वाले पहले गेंदबाज बन गये, परंतु क्या आप जानते हैं कि वर्ल्ड कप टूर्नामेंट में हैट्रिक लेने की शुरुआत भी भारतीय गेंदबाज ने ही की थी।
वर्ल्ड कप 2019 टूर्नामेंट का 28वाँ मैच शनिवार को इंग्लैंड के साउथैम्पटन में रोज़ बाउल मैदान पर भारत और अफगानिस्तान के बीच खेला गया, जिसमें भारत ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया, परंतु भारत की बल्लेबाजी इतनी खराब हुई कि भारत 8 विकेट पर 50 ओवर में मात्र 224 रन का स्कोर ही बोर्ड पर लगा सका। सलामी बल्लेबाजी ने निराश किया। इनफॉर्म बल्लेबाज और उप कप्तान रोहित शर्मा 10 गेंदों में मात्र 1 रन ही बना सके और स्पिन के फेर में फँसकर बोल्ड हो गये। इसके बाद दूसरे ओपनर के. एल. राहुल ने तीसरे नंबर पर खेलने आए कप्तान विराट कोहली के साथ सँभलकर पारी खेलना शुरू किया, परंतु फिर राहुल भी एक गलत शॉट खेलकर कैच थमा बैठे और 30 रन बनाकर पवेलियन लौट गये। विराट कोहली ने कप्तानी पारी खेलते हुए अर्धशतक बनाया। चौथे नंबर पर खेलने आए विजय शंकर 29 और पाँचवें क्रम पर आए एम.एस. धोनी 28 रन ही बना सके। 6 नंबर पर खेलने आए छोटे कद के केदार जाधव ने भी अर्धशतक लगाकर भारत के स्कोर को 224 रन तक पहुँचाया। अन्यथा ऑल राउण्डर हार्दिक पंड्या भी अफगानी स्पिन के सामने ज्यादा देर टिक नहीं पाए और वह मात्र 7 रन ही बना सके। इस प्रकार छोटा स्कोर देखते ही भारतीय फैंस ने जीत की उम्मीद छोड़ दी।
लक्ष्य का पीछा करने उतरी अफगानिस्तान की टीम ने सँभलकर पारी की शुरुआत की। अब भारत की जीत और हार की जिम्मेदारी गेंदबाजों के हाथों में थी। तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार के चोटिल होने के कारण इस वर्ल्ड कप टूर्नामेंट में पहली बार गेंदबाजी करने उतरे मोहम्मद शमी ने अफगानिस्तान के सलामी बल्लेबाज हजरतुल्लाह जेजई को 10 रन के निजी स्कोर पर क्लीन बोल्ड करके भारतीय फैंस में उम्मीद की किरण जगाई। इसके बाद थोड़े-थोड़े अंतराल में अफगानिस्तान के विकेट गिरते गये और कोई बड़ी पार्टनरशिप नहीं हो पाई, जिसकी अफगानिस्तान को दरकार थी। अफगानिस्तान के बल्लेबाजों का प्रदर्शन भी साधारण ही रहा और अंतिम ओवरों में आकर मैच रोमांचक हो गया। अंतिम 2 ओवर में अफगानिस्तान को 23 रन की जरूरत थी, परंतु जसप्रीत बुमराह की कसी हुई गेंदबाजी की बदौलत अफगानिस्तान के बल्लेबाज 49वें ओवर में 7 रन ही बना सके। अंतिम ओवर में अफगानिस्तान को जीतने के लिये 16 रन चाहिये थे, तभी विराट कोहली ने गेंद मोहम्मद शमी के हाथों में थमाई। पहली ही गेंद पर मोहम्मद नबी ने चौका लगाकर अफगानी खेमे में जीत की उम्मीद जगा दी, परंतु तीसरी गेंद पर शमी ने नबी को कैच आउट करा दिया।

इसके बाद चौथी गेंद पर आफताब आलम और पाँचवीं गेंद पर मुजीब उर रहमान को आउट करके हैट्रिक लगाकर भारत को 11 रन से जीत दिलाई। शमी ने कुल 4 विकेट लिये। इसी के साथ मोहम्मद शमी इस वर्ल्ड कप टूर्नामेंट 2019 में हैट्रिक लेने वाले पहले गेंदबाज बन गये। जबकि वर्ल्ड कप की अभी तक (वर्तमान टूर्नामेंट सहित) खेली गई कुल 12 टूर्नामेंट में हैट्रिक लेने के मामले में शमी विश्व के 10वें गेंदबाज बन गये। वर्ल्ड कप प्रतियोगिता 1975 में शुरू हुई थी। चौथी वर्ल्ड कप प्रतियोगिता 1987 में खेली गई थी, जिसमें पहली बार भारतीय गेंदबाज चेतन शर्मा ने 31 अक्टूबर-1987 को नागपुर में न्यूज़ीलैंड के खिलाफ खेले गये मैच के 42वें ओवर में चेतन शर्मा ने पहली तीन गेंदें खाली निकाली और इसके बाद केन रदरफोर्ड, इयान स्मिथ और एवेन चैटफील्ड को आउट करके विश्व कप प्रतियोगिता में पहली हैट्रिक लगाई थी।

वर्ल्ड कप टूर्नामेंट में हैट्रिक लेने वाले गेंदबाज

इसके बाद दूसरी हैट्रिक पाकिस्तान के गेंदबाज सकलैन मुश्ताक के नाम दर्ज हुई है। सकलैन ने 1999 के वर्ल्ड कप में हैट्रिक लगाई थी। तीसरी हैट्रिक श्रीलंका के गेंदबाज चामिंडा वास ने 2003 में हासिल की थी। इसी साल 2003 में ऑस्ट्रेलिया के गेंदबाज ब्रेट ली ने भी हैट्रिक लगाई थी। 2007 में श्रीलंका के लसिथ मलिंगा ने 4 गेंदों पर 4 विकेट लेकर हैट्रिक लगाई थी। 2011 में वेस्ट इंडीज़ के गेंदबाज केमार रोच ने हैट्रिक लगाई। इसी साल श्रीलंकाई गेंदबाज लसिथ मलिंगा ने दूसरी बार हैट्रिक लगाई। 2015 के पिछले वर्ल्ड कप टूर्नामेंट में भी दो हैट्रिक लगी। इंग्लैंड के गेंदबाज स्टीवन फिन और दक्षिण अफ्रीका के जे. पी. डुमिनी ने हैट्रिक लगाई। अब इस फेहरिश्त में 10वें गेंदबाज के रूप में भारत के दूसरे गेंदबाज के रूप में मोहम्मद शमी का नाम भी शामिल हो गया है। उन्होंने वर्ल्ड कप प्रतियोगिता में अपने पहले ही मैच में हैट्रिक लगाने का भी रिकॉर्ड बनाया है।

Article Categories:
News

Leave a Reply

Shares