चौथे चरण का मतदान : तारे जमीं पर, परंतु क्या ज़मीनी STAR लगाएँगे ज़ोर ? : देखिए तसवीरें

Written by

लोकसभा चुनाव 2019 के चौथे चरण के मतदान के दौरान सबसे ज्यादा चर्चा मुंबई की रही, जहाँ सितारे ज़मीन पर उतरे और उन्होंने वोट किया, परंतु क्या ज़मीनी स्टार मतदाता इन सितारों से सबक लेते हुए भारी मतदान करेंगे ? जहाँ तक मुंबई का सवाल है, तो मुंबई में पूरा बॉलीवुड आज मतदान करने के लिये सड़कों पर उतर आया। दोपहर को कड़ी धूप के बावजूद सदी के महानायक अमिताभ बच्चन, क्रिकेट के भगवान कहलाने वाले मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर समेत सभी फिल्म निर्माता, निर्देशक, अभिनेता, अभिनेत्री और चरित्र अभिनेता तथा गीतकार-संगीतकार आदि अपने परिवार सहित मतदान केन्द्रों पर पहुँचे और मतदान करके लोकतंत्र के पर्व में हर्षोल्लास से भाग लिया।

अमिताभ बच्चन कड़ी धूप के बावजूद दोपहर में अपनी धर्मपत्नी जया बच्चन, बेटे अभिषेक बच्चन और बहू ऐश्वर्या राय बच्चन के साथ मतदान केन्द्र पर पहुँचे। उसी समय सचिन तेंडुलकर भी अपनी पत्नी और दोनों बच्चों के साथ मतदान केन्द्र पर पहुँचे। अन्य सितारे सलमान खान, आमिर खान, अजय देवगन, उनकी पत्नी काजोल, प्रियंका चौपड़ा, कंगना रणौत, सोनाली बेन्द्रे, अक्षय कुमार की पत्नी ट्विंकल खन्ना, करीना कपूर, अनुपम खेर, परेश रावल, गीतकार गुलज़ार, अभिनेत्री माधुरी दीक्षित, भोजपुरी अभिनेता रवि किशन, कारोबारी अनिल अंबानी आदि हस्तियों ने बढ़-चढ़कर मतदान प्रक्रिया में भाग लिया और उंगली पर मतदान के प्रतीक स्याही के निशान को दर्शाकर लोगों से भी मतदान करने की अपील की। इसके बावजूद देश की नई सरकार चुनने वाले असल ‘हीरोज़’ यानी आम मतदाता आज भी उतना उत्साहित नहीं दिखाई दिया।

बॉलीवुड सितारों के प्रशंसक लोग, जो अपने चहेते सितारों की हर बात को फॉलो करते हैं, क्या वह इन सितारों से मतदान करने की प्रेरणा लेंगे ? लोकसभा चुनाव 2019 के प्रथम चरण में 11 अप्रैल को 20 राज्यों की 91 सीटों के लिये 66 प्रतिशत औसत वोट डाले गये थे, दूसरे चरण में 18 अप्रैल को 12 राज्यों की 95 सीटों के लिये 66 प्रतिशत मतदान हुआ। इसी प्रकार 23 अप्रैल को तीसरे चरण में 14 राज्यों की 116 सीटों के लिये भी औसत 66 प्रतिशत मतदान हुआ। इस प्रकार पिछले तीनों चरणों में लगभग 34 प्रतिशत मतदाता घरों से बाहर नहीं निकले। यह दर्शाता है कि लोगों में अभी भी मतदान के प्रति जागरुकता लाने की आवश्यकता है।

हालाँकि मतदान कम होने के कई और कारण भी होते हैं। कुछ मतदाता मतदान के दिन ही विविध कारणों से घरों से दूर अन्य शहरों या राज्यों में अथवा विदेश में होने के कारण मतदान नहीं कर पाते हैं, तो कुछ बीमार होने या शादी ब्याह हो जाने से अन्यत्र स्थानांतरित हो जाने के कारण मतदान नहीं कर पाते हैं, वहीं कुछ मतदाताओं के नाम मतदाता सूची में उपलब्ध होते हैं, परंतु उनकी मृत्यु हो चुकी होती है, ऐसे कारणों से भी मतदान के औसत पर प्रभाव पड़ता है।

आप भी देखिए STAR VOTERS की तसवीरें :

Article Categories:
News

Leave a Reply

Shares