Davos इतना महत्वपूर्ण क्यों ?

Written by
PM Narendra Modi addressed 40 CEOs at World Economic Forum Davos 2018. India means business.

खूबसूरत वादियों वाले देश Switzerland के छोटे से शहर Davos में World Economic Forum-2018 की 6 दिवसीय बैठक जारी है। 1997 के बाद भारत का कोई प्रधानमंत्री अर्थजगत की महापंचायत में शामिल हुआ है। इस महापंचायत में World Trade Organization (WTO), International Monitory Fund (IMF), World Bank समेत दुनिया के 38 संगठनों के प्रमुख और 2000 MNCs (Multi National Companies) के CEO हिस्सा ले रहे हैं। सोमवार को पीएम नरेंद्र मोदी ने 40 CEO के साथ Round table meeting की। बैठक में पीएम मोदी ने कहा कि भारत का मतलब बिजनेस है। हमने भारत में बिजनेस करने की प्रकिया को आसान बनाया है। Ease of Doing Business के मामले में हमने लंबी छलांग लगाई है। 23 जनवरी दोपहर को पीएम मोदी World Economic Forum को संबोधित करेंगे।

Indian economy तेजी से Digitization की तरफ

अपने संबोधन में पीएम मोदी ने कहा कि आर्थिक मजबूती के लिए 2017 में Demonetisation और GST जैसे फैसले लिए गए। व्यापार करने में सहूलियत का जो वादा किया था वो पूरा हो रहा है। इस बैठक में पीएम मोदी ने अपने विजन के बारे में भी खुलकर बातचीत की। उन्होंने सरकार की नीतियों को प्रमुखता से उठाया। एक्सपर्ट्स का कहना है कि पीएम मोदी Demonetisation और GST का जिक्र कर निवेशकों को लुभाने की कोशिश करेंगे। अपने संबोधन में पीएम ने कहा कि Indian economy तेजी से Digitisation की तरफ बढ़ रहा है। निवेशकों के लिए ये फैसले काफी सकारात्मक हैं। उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता है कि इन फैसलों की वजह से छोटे उद्योगों पर कितना बुरा असर पड़ा है।

रघुराम राजन भी एक सेशन को संबोधित करेंगे

WEF में शामिल होने के लिए जाने से पहले एक न्यूज चैनल को दिए इंटरव्यू के दौरान पीएम मोदी ने कहा था कि आर्थिक लिहाज से दावोस की महत्ता को हम सभी जानते हैं। वहां विश्व के शक्तिशाली राजनेता और अर्थजगत की हस्तियां इकट्ठा होती हैं। आर्थिक महासम्मेलन में पहली बार Yoga session का भी आयोजन किया जा रहा है। 6 दिनों की बैठक में कुल 400 सेशन होंगे। Reserve Bank of India के Former Governor रघुराम राजन भी एक सेशन को संबोधित करेंगे। इस सम्मेलन में 70 देशों के प्रमुख समेत 350 राजनेता शामिल हुए हैं। बैठक में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप, चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग, जर्मनी की चांसलर एंजेला मर्केल, इंग्लैंड की प्रधानमंत्री टेरेसा मे, पाकिस्तान के प्रधानंमत्री शाहिद खाकान अब्बासी जैसे नेता शामिल हो रहे हैं।

राजनेताओं और उद्योगपतियों को भोज

पीएम मोदी तीन अलग-अलग कार्यक्रमों में दुनियाभर के राजनेताओं और उद्योगपतियों को भोज देंगे। इसके लिए ताज होटल के 32 Chef दावोस पहुंच चुके हैं। ये शेफ 1200 लोगों के लिए Vegetarian  खाना बनाएंगे। पीएम मोदी के साथ वित्तमंत्री अरुण जेटली, सुरेश प्रभु, पीयूष गोयल, धर्मेंद्र प्रधान, बिजनेसमैन मुकेश अंबानी, गौतम अडाणी, अजीम प्रेमजी, चंदा कोचर, राहुल बजाज, उदय कोटक समेत कई प्रमुख बिजनेसमैन वहां पहुंचे हैं।

प्रोफेर क्लॉज श्वॉब ने रखी थी WEF की नींव 

दावोस सम्मेलन हर साल जनवरी महीने में आयोजित किया जाता है। शुरुआत में World Economic Forum का नाम European Management Forum था। इसकी नींव प्रोफेर क्लॉज श्वॉब ने रखी थी। यह फोरम स्विटजरलैंड के जिनेवा शहर का NGO हुआ करता था लेकिन अब Davos के मायने और मतलब बदल चुके हैं। 2015 में औपचारिक तौर पर इस फोरम को अंतर्राष्ट्रीय संस्थान का दर्जा मिला था।

Article Categories:
News

Leave a Reply

Shares