साल में 2 बार हो सकता है NEET, JEE का Exam

Written by
National Testing Agency

Engineering and Medical छात्रों के लिए यह अच्छी खबर है। हो सकता है कि 2019 से इंजीनियरिंग और मेडिकल के लिए साल में 2 बार प्रवेश परीक्षा (entrance examination)हो। Minister of State for Human Resource Development, उपेंद्र कुशवाहा ने लोकसभा में यह जानकारी दी। परीक्षा का आयोजन नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) द्वारा किया जाएगा। पिछले महीने ही पीएम मोदी की अध्यक्षता में कैबिनेट ने National Testing Agency के गठन को मंजूरी दी थी। शुरुआत में NTA उन सभी परीक्षाओं का आयोजन करेगी जिसका आयोजन अभी तक CBSE करती आ रही है।

परीक्षा आयोजन के लिए NTA का हुआ है गठन

National Testing Agency का गठन विशेष रूप से परीक्षाओं के आयोजन को लेकर किया गया है। आने वाले वक्त में नेशनल टेस्टिंग एजेंसी AICTE समेत दूसरी एजेंसियों द्वारा आयोजित सभी परीक्षाओं का आयोजन करेगी। इस साल के बजट में नेशनल टेस्टिंग एजेंसी के लिए 25 करोड़ का बजट दिया गया था। NTA, HRD मिनिस्ट्री के तहत एक स्वायत्त (Autonomous) संस्था होगी जो अपनी खुद की कमाई से चलेगी।

2019 से अपना काम करेगी NTA

वर्तमान में CBSE, AICTE, UGC पर एकेडमिक्स (Academics) के अलावा तमाम परीक्षाओं के आयोजन का अलग से भार है। अतिरिक्त भार की वजह से ये एजेंसियां अपने काम में लगातार पिछड़ रही हैं और Quality education के मामले में हम पीछे हो रहे हैं। इसी साल CBSE और UGC के बीच NET (National Eligibility Test) को लेकर विवाद खड़ा हो गया था। CBSE ने परीक्षा आयोजन से इंकार कर दिया था। ऐसे में NTA के गठन से ऐसी कोई समस्या नहीं होगी। परीक्षा आयोजन के लिए एक विशेष एजेंसी की मांग लंबे समय से होती रही थी लेकिन इस मांग को मोदी सरकार ने पूरा किया।

साल में दो बार परीक्षा लेने की तैयारी

According to report NTA की तरफ से साल में दो बार ऑनलाइन परीक्षाएं ली जाएंगी। Online examinations के लिए हर जिले में Examination centers बनाए जाएंगे। National Testing Agency द्वारा रिजल्ट percentage की जगह percentile में निकाली जाएगी। किसी भी कॉलेज या यूनिवर्सिटी में percentile के आधार पर ही Admission होगा।Percentile को आधार मानते हुए कोई इंस्टीट्यूट (Institute) चाहे तो अलग से एग्जाम ले सकता है। उम्मीद की जा रही है कि साल में दो बार परीक्षा होने से करीब 40 लाख छात्रों को फायदा मिलेगा साथ ही entrance examinations की विश्वसनीयता(Credibility) बढ़ेगी और नकल पर भी रोक लगेगी।

Article Tags:
· · ·
Article Categories:
News

Leave a Reply

Shares