‘Made In India’ उत्पादों का निर्माण करने की आवश्यकता है जो ‘Made for the World’ हो: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

Written by

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने Confederation of Indian Industry (CII) के 125 वर्ष पूरे होने के अवसर पर मंगलवार को Video Conferencing के जरिए संबोधित किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कोरोना संकट के बीच हमें देश के लोगों के जीवन को तो बचाना ही है साथ ही साथ अर्थव्यवस्था को स्थिर भी करना है। उन्होंने कहा कि मौजूदा संकट की वजह से पहले की तुलना में अब दुनिया के अन्य देश बाकी देशों का साथ ज्यादा चाहते हैं। Unlock-1 के लागू होने के बाद अर्थव्यवस्था पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का यह पहला बड़ा भाषण था।

कोरोना संकट से निपटने के लिए किए जा रहे PPE Kit के निर्माण को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि रोजाना अब देश में तीन लाख PPE Kit बनाई जा रही हैं। उन्होंने कहा कि तीन महीने के अंदर ही सैकड़ों करोड़ की इंडस्ट्री खड़ी कर दी गई है।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भारत अपनी ग्रोथ को जल्द वापस पा लेगा। पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना संकट के बीच 74 करोड़ लोगों के घर राशन पहुंचाया गया है। Lockdown के दौरान सरकार ने को आठ करोड़ से ज्यादा गैस सिलेंडरों को गरीबों के घरों तक फ्री में पहुंचाया है। इसके अलावा प्राइवेट सेक्टरों के कर्मचारियों के खातों में EPF में सहायता की है।

पीएम मोदी ने कहा कि किसान अब अपनी शर्तों पर किसी भी राज्य में फसल को बेच सकता है। अब Electronic Trading के जरिए फसल को बेचा जा सकता है। इससे कई नए रास्ते खुलने जा रहे हैं। इसी तरह हमारे श्रमिकों को ध्यान में रखते हुए Labour Reforms भी किए जा रहे हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने CII के कार्यक्रम में कहा कि भारत को फिर से तेज विकास के पथ पर लाने के लिए, आत्मनिर्भर भारत बनाने के लिए पांच चीजें बहुत ज़रूरी हैं। ये पांच चीजें हैं- Intent, Inclusion, Investment, Infrastructure और Innovation।

उन्होंने कहा कि MSME की परिभाषा स्पष्ट करने की मांग लंबे समय से उद्योग जगत कर रहा था, वो पूरी हो चुकी है।  इससे MSME बिना किसी चिंता के आगे बढ़ पाएंगे और उनको स्टेट्स बनाए रखने के लिए दूसरे रास्तों पर चलने की ज़रूरत नहीं रहेगी।

बता दें कि Coronavirus की वजह से पिछले कई दिनों से देश में लॉकडाउन लागू है। हालांकि, अब पांचवें चरण में लॉकडाउन सिर्फ Containment Zone तक सीमित कर दिया गया है। देशव्यापी बंदी की वजह से देश की अर्थव्यवस्था पर भी काफी गहरा असर पड़ा है।

Article Categories:
News

Comments are closed.

Shares