ये लो, अब YELLOW हो जाएगा 20 का नोट : जानिए क्यों ?

Written by

रिपोर्ट : विनीत दुबे

अहमदाबाद, 1 अगस्त, 2019 (युवाPRESS)। भारतीय रिजर्व बैंक क्लीन नोट पॉलिसी के तहत देश में चलन में मौजूद वर्तमान करंसी नोटों को धीरे-धीरे बाजार से वापस ले रहा है और उनके स्थान पर नये नोट चलन में ला रहा है। इसी कड़ी में अब भारतीय रिजर्व बैंक 20 रुपये का भी नया नोट जल्द ही बाजार में लाने वाला है।

नये रंग-रूप में आएगा 20 रुपये का नया नोट

भारतीय रिजर्व बैंक ने 20 रुपये का नया नोट तैयार कर लिया है और इसे जल्द ही बाजार में उपलब्ध कराने की घोषणा की है। इस नये नोट में जो सबसे बड़ा बदलाव देखने को मिलेगा, वह ये कि यह रंग-रूप में वर्तमान 20 रुपये के नोट से बिल्कुल अलग है। 20 रुपये का नया नोट हल्के पीले और हरेपन के साथ आएगा। यह साइज में भी वर्तमान 20 रुपये के नोट से थोड़ा छोटा होगा। मीडिया में आ रही खबरों के अनुसार नये नोटों की पहली खेप कानपुर में स्थित भारतीय रिजर्व बैंक के रिज़नल कार्यालय में पहुँच चुकी है। शीघ्र ही इन नोटों की गड्डियाँ विभिन्न बैंकों में पहुँचाई जाएंगी और वहाँ से यह नये नोट आपके हाथों में आएंगे।

नये नोट पर रिजर्व बैंक के नये गवर्नर के हैं हस्ताक्षर

महात्मा गांधी की नई सीरीज के तहत जारी होने वाले इन नये नोटों पर भारतीय रिजर्व बैंक के नये गवर्नर शक्तिकांत दास के हस्ताक्षर होंगे। आरबीआई ने साफ किया है कि नये नोट जारी होने के बावजूद 20 रुपये के चलन में मौजूद वर्तमान नोट भी लीगल टेंडर बने रहेंगे अर्थात् नये नोटों के आने से पुराने नोट भी पहले की तरह ही चलते रहेंगे। आरबीआई के अनुसार नये नोट का रंग और साइज बदला गया है, अन्य फीचर्स में विशेष बदलाव नहीं किये गये हैं। नोट के पिछले हिस्से में देश की सांस्कृतिक विरासत एलोरा की गुफाओं का चित्र दर्शाया गया है। एलोरा की गुफाएं महाराष्ट्र के औरंगाबाद जिले में स्थित हैं। इन्हें यूनेस्को की ओर से विश्व धरोहर घोषित किया गया है। औरंगाबाद में कुल 34 गुफाएं हैं, जिनकी लंबाई लगभग 30 किलोमीटर है। इन गुफाओं में हिंदू, बौद्ध और जैन मंदिर हैं। यहाँ 12 बौद्ध गुफाएं, 17 हिंदू गुफाएं और 5 जैन गुफाएं हैं। इन गुफाओं को 1,000 ईसवी पूर्व में बनाया गया था। राष्ट्रकूट वंश के शासकों ने इन्हें बनवाया था। महाराष्ट्र का प्रमुख कैलाश मंदिर भी इन्हीं गुफाओं में बना हुआ है। 20 रुपये का नया नोट वर्तमान नोट से लगभग 20 प्रतिशत छोटा है। नये नोट का आकार चौड़ाई 63 मि.मी. और लंबाई 129 मि.मी. है। अन्य सभी फीचर्स वही हैं, जो रिजर्व बैंक की ओर से जारी महात्मा गांधी सीरीज़ के अन्य 10, 50, 100, 200, 500 और 1,000 रुपये के नोटों में है।

इसे भी पढ़ें : 157 वर्षों के सफर में 6ठी बार बदलने जा रहा है 20 का नोट

चलन में हैं 20 रुपये के 1,000 करोड़ नोट

उल्लेखनीय है कि भारतीय अर्थव्यवस्था के शुद्धिकरण के लिये मोदी सरकार ने 8 नवंबर-2016 को देश में नोटबंदी लागू की थी और चलन में मौजूद 500 तथा 1,000 रुपये के नोटों का चलन बंद कर दिया था। इसके बाद से लगातार भारतीय रिजर्व बैंक क्लीन नोट पॉलिसी पर काम कर रहा है। सबसे पहले आरबीआई ने 1,000 रुपये के पुराने नोटों के स्थान पर 2,000 रुपये का नया नोट जारी किया था। इसके बाद क्रमशः 500, 100, 50 और 10 रुपये के नये नोट जारी किये तथा 200 रुपये का नया नोट चलन में रखा। अब आरबीआई 20 रुपये का नोट भी बदलने जा रही है। यह सातवीं नई करेंसी है। आरबीआई के आंकड़ों के अनुसार 31 मार्च-2016 तक देश में 20 रुपये के 492 करोड़ नोट चलन में थे। मार्च-2018 तक इनकी संख्या बढ़कर 1,000 करोड़ हो गई है। इस प्रकार देश के कुल नोटों में 20 रुपये के नोटों का हिस्सा 9.8 प्रतिशत है।

Article Categories:
Indian Business · News

Comments are closed.

Shares