Passports में होने वाला है ये बदलाव

Written by
External Affairs Ministry announced that new passport will not valid as address proof. Booklets will be of blue and orange color.

अब तक Passport को सबसे अहम दस्तावेज माना जाता रहा है।  इसका इस्तेमाल Address proof के तौर पर भी किया जाता है। लेकिन विदेश मंत्रालय (Ministry of External Affairs) ने इसके नियमों में बदलाव और ज्यादा सुगम बनाने का फैसला किया है। नए बदलाव के तहत दो तरह के Passport जारी किए जाएंगे। जिन आवेदकों के लिए ECR (Emigration Check Required) जरूरी होगा उन्हें नारंगी कलर की बुकलेट जारी की जाएंगी। जिनके लिए ECR (Emigration Check not Required) जरूरी नहीं होगा उन्हें नीले रंग वाली बुकलेट जारी की जाएंगी। वर्तमान में ECNR के लिए यही नियम लागू है।

Passport का आखिरी पन्ना प्रिंट नहीं होगा

नए नियम के मुताबिक Passport का आखिरी पन्ना प्रिंट नहीं किया जाएगा। आखिरी पन्ने पर पासपोर्ट होल्डर के माता-पिता का नाम, पति या पत्नी का नाम, ECR/ECNR, पुराने पासपोर्ट का नंबर, पासपोर्ट जारी करने की जगह समेत कई निजी जानकारियां होती हैं। ये जानकारियां नहीं होने पर इसका इस्तेमाल Address proof के तौर पर नहीं किया जा सकेगा।

पुराने Passport को लेकर ये शिकायतें थी

इस बाबत विदेश मंत्रालय (External Affairs Ministry) के प्रवक्ता ने कहा कि तीन सदस्यीय कमेटी का गठन किया गया था। कमेटी में विदेश मंत्रालय और महिला एवं बाल विकास मंत्रालय (Ministry of Women and Child Development) के अधिकारी शामिल थे। पासपोर्ट को लेकर कई ऐसे मामले थे जिनमें पासपोर्ट होल्डर और उनकी मां ने पिता के नाम की जानकारी हटाने की मांग की थी। ऐसे भी मामले थे जिनमें बच्चे गोद लिए गए थे या फिर सिंगल पैरेंट्स बच्चे हैं। इन मामलों को लेकर कमेटी ने जो रिपोर्ट सौंपी उसमें कहा गया कि विदेश मंत्रालय को ऐसी संभावनाओं पर गौर करना चाहिए। कमेटी की सिफारिशों को विदेश मंत्रालय ने मंजूर कर लिया। इसी वजह से पासपोर्ट बुकलेट के आखिरी पन्ने को प्रिंट नहीं करने का फैसला किया गया है।

Emigration check के आधार पर होगा बुकलेट का रंग

दो अलग-अलग कलर के पासपोर्ट का फैसला Emigration check के मद्देनजर लिया गया है। अगर Emigration check जरूरी होगा तो पासपोर्ट बुकलेट का कलर नारंगी होगा, अगर इमीग्रेशन चेक जरूरी नहीं होगी तो बुकलेट का कलर नीला होगा। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि नई पासपोर्ट की छपाई की जिम्मेदारी इंडियन सिक्योरिटी प्रेस (ISP) को जिम्मेदारी सौंपी गई है। जब तक नए पासपोर्ट छप कर विदेश मंत्रालय के पास नहीं पहुंच जाता तब तक पुराने नियम के मुताबिक पासपोर्ट छपते रहेंगे। जो पासपोर्ट पहले से जारी हैं वे आखिरी तारीख तक वैध रहेंगे।

Article Categories:
News

Leave a Reply

Shares