“ONLINE NAIMISHA 2020” का आयोजन 8 जून से 3 जुलाई 2020 तक होगा : राष्ट्रीय आधुनिक कला संग्रहालय

Written by

राष्ट्रीय आधुनिक कला संग्रहालय ने 8 जून से 3 जुलाई 2020 तक ग्रीष्मकालीन कला कार्यक्रम “ONLINE NAIMISHA 2020” का आयोजन करने की घोषणा की है। इस महामारी की स्थिति में और lockdown के दौरान, Museums और Cultural Institutions हमेशा की तरह दर्शकों को सेवा प्रदान नहीं कर सकते हैं। इस स्थिति ने NGMA  को अपने दर्शकों तक पहुंचने के लिए नए क्षेत्रों और Platforms का पता लगाने के लिए प्रेरित किया। पिछले दो महीनों में NGMA ने कई कार्यक्रमों और प्रदर्शनियों का वर्चुअल रूप में आयोजन किया है। तकनीकी विकास, ऐसे कार्यक्रमों को डिजिटल रूप से आयोजित करने का अवसर प्रदान करता है। इसलिए NGMA अपने सबसे लोकप्रिय ग्रीष्मकालीन कला कार्यक्रम NAIMISHA को डिजिटल रूप से आयोजित करने का प्रयास कर रहा है।

महीने भर चलने वाला यह ऑनलाइन कार्यक्रम NGMA, नई दिल्ली की एक पहल है जिसके अंतर्गत प्रतिभागियों को कलाकारों के साथ अभ्यास करने और उनसे सीखने का अवसर प्राप्त होता है। अपने दर्शकों से वर्चुअल रूप में संपर्क बढाने के लिए NGMA द्वारा चार समावेशी कार्यशालाओं की योजना बनाई गई है। 1 जून को इन कार्यशालाओं की घोषणा का गर्मजोशी से स्वागत किया गया है और अब तक 600 से अधिक प्रतिभागियों के पंजीकरण प्राप्त हुए हैं। “Online NAIMISHA 2020” कार्यक्रम में, 8 जून 2020 से 3 जुलाई 2020 तक चार कार्यशालाओं का आयोजन किया जाएगा। कार्यशालाओं के शीर्षक हैं – चित्रकला कार्यशाला, मूर्तिकला कार्यशाला, प्रिंटमेकिंग और इन्द्रजाल – द मैजिक ऑफ आर्ट। ऑनलाइन कार्यशाला सत्र दो समूहों में आयोजित किए जाएंगे: समूह 1:  6 वर्ष से 15 वर्ष तक, समय : सुबह 11 बजे से 11.35 बजे तक और समूह 2: 16 वर्ष एवं इससे अधिक, उम्र की कोई उपरी सीमा नहीं, समय : 4.00 बजे शाम से 4.35 बजे तक।

राष्ट्रीय आधुनिक कला संग्रहालय के महानिदेशक श्री अद्वैत चरण गरनायक ने कहा, “राष्ट्रीय आधुनिक कला संग्रहालय (NGMA) के पहले महानिदेशक के रूप में, मैं इस बात में दृढ़ता से विश्वास करता हूं कि संग्रहालयों को वर्चुअल रूप में आम लोगों के लिए सुलभ बनाया जाना चाहिए। समर आर्ट 2020, संग्रहालय और इसकी गतिविधियों के साथ समाज के सभी वर्गों को जोड़ने की दिशा में उठाया गया एक कदम है। सोमवार से, मैं वरिष्ठ-कनिष्ठ कलाकारों के साथ आपकी स्क्रीन पर आपके पास पहुंचूंगा और हम सभी एक साथ कला रचना के लिए सीखने का प्रयास करेंगे। कार्यक्रम का शीर्षक NAIMISHA एक पवित्र स्थान का प्रतिनिधित्व करता है जहां लोग अपनी श्रद्धा या भक्ति की पेशकश करते हैं। मेरा मानना ​​है कि NGMA की गतिविधियों का दायरा, एक संस्था के रूप में विशेष रूप से शिक्षा के क्षेत्र में बढ़ाया जाना चाहिए और समाज के प्रत्येक वर्ग तक पहुंचने का प्रयास किया जाना चाहिए। “

NAIMISHA 2020 समर आर्ट प्रोग्राम से चयनित कलाकृतियों की प्रदर्शनी को जल्द ही सार्वजनिक रूप से देखने के लिए NGMA के सांस्कृतिक मीडिया मंच एसओ –एचएएम पर वर्चुअल रूप में प्रदर्शित किया जाएगा।

कार्यक्रमों /गतिविधियों का विवरण NGMA की आधिकारिक वेबसाइट और फेसबुक पेज पर उपलब्ध होगा। अधिक अपडेट के लिए, कृपया देखें:

NGMA वेबसाइट  http://ngmaindia.gov.in

Article Tags:
·
Article Categories:
News

Comments are closed.

Shares