NIL GST Return भरने वाली Registered Companies पर देरी के लिए नहीं लगेगा जुर्माना

Written by

कोरोना वायरस संक्रमण को देखते हुए सरकार ने GST Return दाखिल करने में देर होने पर लगने वाली Late Fees माफ़ कर दी है वित्‍तमंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा है कि जुलाई 2017 और जनवरी 2020 के बीच NIL GST Return भरने वाली Registered Companies पर देरी करने के लिए जुर्माना नहीं लगाया जाएगा। निर्मला सीतारमण ने Goods and Services Tax (GST) की  चालीसवीं बैठक के बाद बताया कि जुलाई 2017 से जनवरी 2020 के बीच GST बिक्री रिटर्न नहीं भरने का अधिकतम जुर्माना पांच सौ रूपये होगा। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि GST नहीं भरने पर जुर्माने से संबंधित मामलों को निपटाने के लिए GST Council की बैठक में ये दो निर्णय किए गए हैं।

 पांच करोड़ रुपये तक के कारोबार करने वाले छोटे करदाताओं के लिए GST Council ने February, March और April 2020 की GST Return के लिए ब्‍याज दर नौ प्रतिशत कर दी है। छोटे करदाता 30 September 2020 तक Return भर सकते हैं।  

निर्मला सीतारमण ने कहा कि May, June और July के लिए Return भरने की तिथि सितंबर तक बढा दी है और इस पर कोई जुर्माना या ब्‍याज नहीं लिया जाएगा। 

 केंद्रीय मंत्री ने कहा कि GST Council की बैठक में Covid19 के प्रभाव पर भी चर्चा की गई। इस दौरान GST संग्रहण और कपड़े के कर ढांचे पर भी विचार-विमर्श हुआ। निर्मला सीतारमण ने कहा कि GST Council उर्वरक, कपड़ा और जूता-चप्‍पल पर लगे Tax में सुधार पर चर्चा की। वित्‍तमंत्री ने कहा कि राज्‍यों को क्षतिपूर्ति देने की आवश्‍यकता पर जुलाई की बैठक में विचार होगा। इसके अलावा पान मसाला पर Tax लगाने की संभावना पर भी अगली बैठक पर चर्चा होगी।

Article Categories:
News

Comments are closed.

Shares