पाकिस्तान नहीं, यह देश है भारत का दुश्मन नं. 1 : जानिए किसने किया यह दावा ?

Written by

अहमदाबाद, 9 अगस्त, 2019 (युवाPRESS)। अगर आप यह समझते हैं कि पाकिस्तान भारत का सबसे बड़ा दुश्मन मुल्क है, तो आप गलत हैं। दरअसल पाकिस्तान तो भारत के सामने किसी भी मामले में कहीं ठहरता ही नहीं है। वैसे भी भारत ने कभी पाकिस्तान को दुश्मन नहीं समझा। भारत ने तो हमेशा ही यह कोशिश की कि भारत और पाकिस्तान साझा रूप से आगे बढ़ें तो दोनों देश मिलकर दक्षिण एशिया में अपना दबदबा बना सकते हैं, परंतु यह तो पाकिस्तान ही है जो भारत पर भरोसा नहीं करता और उसे अपना दुश्मन समझता है। वास्तव में भारत का दुश्मन नंबर वन कोई और है। यह भी भारत का पड़ोसी ही है और यह ड्रेगन यानी चीन है, जिसकी विस्तार वादी नीति से उसके सभी पड़ोसी देश परेशान हैं। पाकिस्तान भले ही चीन को अपना मित्र और मददगार समझता हो, परंतु यह पाकिस्तान की बड़ी भूल है, जो उसे भविष्य में भारी पड़ सकती है।

भाजपा सांसद की नज़र में चीन है भारत का दुश्मन नं.1

भाजपा सांसद राकेश सिन्हा के अनुसार चीन भारत का दुश्मन नंबर वन है। सिन्हा ने जम्मू कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने पर चीन की ओर से आई प्रतिक्रिया को खारिज करते हुए यह बात कही। सिन्हा ने बीबीसी हिंदी रेडियो से हुई बातचीत के दौरान कहा कि भारत अपने आंतरिक मामले में अमेरिका, रूस, पाकिस्तान या चीन किसी को भी हस्तक्षेप करने की अनुमति नहीं दे सकता। धारा 370 के मुद्दे पर चीन के बयान पर सिन्हा ने कहा कि चीन एक विस्तारवादी देश है, जो कभी भारत का अच्छा मित्र नहीं बन सकता।

चीन कुछ साल पहले तक कश्मीरी लोगों को स्टेपल वीजा देता था। वह भारत के अरुणाचल प्रदेश पर दावा करता है, वह तो सिक्किम पर भी दावा करता है। यदि चीन के विस्तारवाद को हम मानेंगे तो भारत के कई हिस्से उसे सौंप देने पड़ेंगे।

चीन पाकिस्तान का भी दोस्त नहीं

सिन्हा का कहना है कि चीन की पाकिस्तान से भी कोई दोस्ती नहीं है। चीन से भारत के भी सम्बंध हैं, उसके साथ आर्थिक सम्बंध, राजनीतिक सम्बंध हैं, परंतु हम अपनी तरफ से पूरी तरह स्पष्ट हैं, चीन विस्तारवादी है और वह कभी भारत का अच्छा दोस्त नहीं हो सकता। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान इस मुद्दे पर पूरी दुनिया के सामने अकेला पड़ गया है। धारा 370 भारत का अंदरूनी मामला था। कूटनीतिक दृष्टि से भारत आज सबसे अच्छी स्थिति में है, जबकि पाकिस्तान अलग-थलग है। कोई भी इस्लामिक देश भी पाकिस्तान के साथ नहीं खड़ा है। यही भारत की सबसे बड़ी सफलता है। भारत दुनिया में एक महत्वपूर्ण प्लेयर के रूप में उभरा है, जो भी छोटी-मोटी प्रतिक्रियाएँ आई हैं, उनसे भारत निपट लेगा। उन्होंने दावा किया कि देश की संप्रभुता और अस्मिता के मुद्दे पर सभी दलों में सहमति है कि वह मिलकर प्रतिकार करेंगे।

कश्मीर को केन्द्र सरकार की योजनाओं का लाभ मिलेगा

भाजपा सांसद ने कहा कि दुनिया में 370 को लेकर जो कुछ चर्चा हो रही है, वह भारत के विरुद्ध दुष्प्रचार के कारण हो रही है। उन्होंने कहा कि धारा 370 एक अस्थाई व्यवस्था थी, जिसे कांग्रेस सरकारों ने स्थाई बनाने का प्रयास किया और इसके हटने से जम्मू-कश्मीर के लोगों को महत्वपूर्ण कानूनों और केन्द्रीय योजनाओं का लाभ मिलेगा। उन्होंने कहा कि नेहरूजी कहते थे कि यह घिस-घिसकर खत्म हो जाएगा और कांग्रेस सरकारों के दौरान इसका क्षरण होता रहा। मैं संसद में भी कह चुका हूँ कि जो काम आप खुदरा में नहीं कर रहे थे, हमने उसे थोक भाव में कर दिया। उन्होंने दावा किया कि अभी तक चार महत्वपूर्ण कानून नहीं बन पा रहे थे। पंचायती राज जनहित में सबसे महत्वपूर्ण है, जिसे लागू होना है। दूसरा दलितों के लिये आरक्षण की बात है। तीसरा है अर्बन सीलिंग एक्ट। श्रीनगर की जो सबसे कीमती जमीनें हैं, वो तीन चार परिवारों के हाथ में हैं। अर्बन सीलिंग एक्ट लागू होते ही वह जमीनें सामान्य लोगों के पास पहुँच जाएँगी।

Article Categories:
News

Comments are closed.

Shares