NPA के दलदल में बैंक और खतरे में Economy

Written by
NPA rising in Education loans

We know that mutual funds are subject to market risk but what about fix deposits? Finance works completely rely on fiduciary trust and customers believe that banks are completely unaffected from vagaries from the market. इस बात का जिक्र करना इसलिए जरूरी है कि क्योंकि बैंकों का NPA लगातार बढ़ता जा रहा है। This is really alarming situation for economy. Financial Stability Report, 2017 released by RBI states that India’s gross NPAs crossed 10 lakh crores.

लगातार बढ़ रहा है NPA का आंकड़ा

11 अगस्त 2017 को लोकसभा में वित्तमंत्री अरुण जेटली ने सवाल के जवाब में कहा था कि NPAs of Public Sector Banks increased by 311 per cent from 155890 crores in 2013 to 641057 crores in 2017. बैंकों के assets के लिहाज से देखें तो Sum of NPAs counts 12.47 per cent. इन चार सालों में Private Banks का NPAs 19986 करोड़ से बढ़कर 73842 करोड़ पर पहुंच गया।

Education Loan में भी बढ़ रहा है NPA

लगातार बढ़ रहे NPAs में Education loans का योगदान भी कम नहीं है। Indian Bank’s Association की डेटा के मुताबिक Financial Year 2016-17 में बैंकों ने Education loans के तौर पर 67678 करोड़ रुपए दिए जिसमें 5191 करोड़ रुपए NPA है। पिछले कुछ सालों में Education loans में NPAs लगातार बढ़ रहा है। 2015 में Outstanding amount का केवल 5.7 फीसदी NPAs के रूप में था लेकिन 2017 में यह बढ़कर 7.67 फीसदी पर पहुंच गया।

Education Loan की repayment सीमा 15 साल

Education loans में बढ़ते NPAs के मद्देनजर सरकार ने Education Loan Scheme में कई बदलाव भी किए हैं। बड़े बदलाव के तौर पर repayment की अवधि 15 साल कर दी गई है। इसके अलावा 7.5 लाख तक के Education loans के लिए Credit guarantee fund scheme for education loan (CGFEL) की शुरुआत की गई है। Credit guarantee fund योजना के तहत defaulted loans के लिए 75 फीसदी तक गारंटी दी गई है। Indian Banks Association की डेटा के मुताबिक Indian Bank का Bad loans for education करीब 671 करोड़ है। State Bank of India का Bad education loans करीब 538 करोड़ रुपए का है जबकि Punjab National Bank का Bad education loans करीब 478 करोड़ रुपए हैं।

Article Categories:
News

Leave a Reply

Shares