31 घंटे बाद चिदंबरम गिरफ्तार, CBI ने लिया शिकंजे में

Written by

रिपोर्ट : विनीत दुबे

अहमदाबाद, 21 अगस्त, 2019 (युवाPRESS)। कांग्रेस के सीनियर नेता और पूर्व केन्द्रीय वित्त मंत्री पी. चिदंबरम को गिरफ्तार करने के लिये बुधवार रात सीबीआई उनके दिल्ली में जोर बाग स्थित बंगले पर पहुँची, जहाँ जोरदार ड्रामा हुआ। इससे पहले दिल्ली में दिन भर हाई प्रोफाइल ड्रामा चला। आईएनएक्स (INX) मीडिया केस में पी. चिदंबरम पर घूस लेने का आरोप है। ईडी और सीबीआई दोनों ने ही घूस लेने के आरोप में चिदंबरम और उनके बेटे कार्ति चिदंबरम के विरुद्ध एफआईआर दर्ज की है । अंततः 31 घंटे तक चली लुका-छिपी के बाद चिदंबरम को बुधवार रात 10.40 बजे गिरफ्तार कर लिया गया।

27 घण्टे से लापता चिदंबरम अचानक हुए प्रकट

मंगलवार को दिल्ली हाईकोर्ट से चिदंबरम की अग्रिम जमानत याचिका नामंजूर होने के बाद कल शाम से ही वह भूमिगत हो गये थे। बुधवार को उनके वकील और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद ने सुप्रीम कोर्ट में उनके लिये अग्रिम जमानत याचिका दाखिल की और कोशिश की कि आज ही उस पर सुनवाई हो जाए और चिदंबरम को अग्रिम जमानत मिल जाए, परंतु ऐसा नहीं हुआ और उनकी जमानत पर अब 23 अगस्त शुक्रवार को सुनवाई होगी। इस बीच मंगलवार को ही दिल्ली हाईकोर्ट से अग्रिम जमानत याचिका खारिज होने के बाद और चिदंबरम के भूमिगत हो जाने से प्रवर्तन निदेशालय ने उनके विरुद्ध लुकआउट नोटिस जारी कर दिया था, ताकि वह देश से बाहर ना जा सकें। बुधवार को सीबीआई ने भी लुकआउट नोटिस जारी किया।

इसके बाद 27 घण्टे से लापता चिदंबरम बुधवार रात साढ़े आठ बजे अचानक दिल्ली स्थित कांग्रेस मुख्यालय में प्रकट हुए और प्रेस कॉन्फ्रेंस करके कहा कि पिछले 24 घण्टे से उनके विरुद्ध दुष्प्रचार फैलाया जा रहा है। उन पर कोई आरोप नहीं है और उनके खिलाफ कोई चार्जशीट भी दाखिल नहीं हुई है। उन्होंने कहा कि वह कानून से संरक्षण की माँग करते हैं। चिदंबरम ने यह भी कहा कि लोकतंत्र की बुनियाद आज़ादी है और उन्हें यदि ज़िंदगी और आज़ादी में से किसी एक को चुनना पड़ा तो वह आज़ादी को चुनेंगे। उनके कांग्रेस मुख्यालय पहुँचने की खबर मिलते ही सीबीआई की टीम उन्हें गिरफ्तार करने के लिये कांग्रेस मुख्यालय पहुँची, हालाँकि उसके पहुँचने से पहले ही चिदंबरम वहाँ से निकलकर जोर बाग स्थित अपने बंगले पर पहुँच गये। उनके साथ कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और सुप्रीम कोर्ट के वकील कपिल सिब्बल तथा अभिषेक मनु सिंघवी भी मौजूद हैं।

यह भी पढ़े : जानिए ‘पुत्र मोह’ ने कैसे कर दी चिदंबरम की यह दुर्गति ?

दीवार फांदकर सीबीआई बंगले में घुसी

सीबीआई की टीम अब उन्हें गिरफ्तार करने के लिये उनके घर पहुँच चुकी है, जहाँ दरवाजा नहीं खोलने पर सीबीआई की एक टीम ने परिसर की दीवार फांदकर बंगले में प्रवेश किया है, जबकि दूसरी टीम बंगले के बाहर मौजूद है। इस बीच सीबीआई ने चिदंबरम की गिरफ्तारी में तथा स्थल पर सुरक्षा बंदोबस्त के लिये दिल्ली पुलिस से मदद माँगी। पुलिस भी चिदंबरम के बंगले पर पहुँच चुकी है। इस बीच बंगले के बाहर कुछ कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने हंगामा मचाकर व्यवस्था को बिगाड़ने का प्रयास किया तो पुलिस ने उन पर डंडे चलाये। अभी बंगले के अंदर सीबीआई की एक टीम चिदंबरम से पूछताछ कर रही है, जबकि बंगले के बाहर पुलिस ने सुरक्षा व्यवस्था का मोर्चा सँभाला हुआ है। उल्लेखनीय है कि आईएनएक्स (INX) मीडिया केस में पी. चिदंबरम पर घूस लेने का आरोप है। ईडी और सीबीआई दोनों ने ही घूसखोरी के मामले में चिदंबरम और उनके बेटे कार्ति चिदंबरम के विरुद्ध एफआईआर दर्ज की हुई है। इसलिए सीबीआई उन्हें गिरफ्तार करके कोर्ट के समक्ष पेश करना चाहती है, जहाँ उन पर मुकदमा चलाया जाएगा।

Article Categories:
News

Comments are closed.

Shares