तमिलनाडु में पेरियार की मूर्ति की सुरक्षा के लिए मुस्तैद किए पुलिस

Written by
Periyar Statue

नई दिल्लीः त्रिपुरा में स्थित Lenin Statue को गिराए जाने से उठी विवाद अभी तक ठहरी नहीं है। तमिलनाडु के वेल्लोर (Vellore)  में कल रात समाज सुधारक तथा तर्कवादी नेता पेरियार की मूर्ति को आघात पहूंचाया गया। इसको देखते हुए तमिलनाडु के कोयंबटूर में स्थित गांधीपुरम में लगी एक Periyar Statue के करीब कई सुरक्षाबलों को मुस्तैद कर दिए गए हैं ताकि Periyar Statue पर कोई अटेक न कर सके।

मिली जानकारी के अनुसार आज सुबह 8 बजे कोलकाता में स्थित जनसंघ के संस्थापक  श्यामा प्रसाद मुखर्जी की Statue को तोडी गई और उनके Statue पर कालीख भी पोता गया। जिसके बाद से तमिलनाडु के कोयंबटूर के गांधीपुरम स्थित Periyar Statue की निगरानी के लिए 4 सुरक्षाबलों को मुस्तैद कर दिए गए है।

लेनिन के बाद Periyar Statue की बारी. बीजेपी नेता

गोरतलब यह है कि त्रिपुरा में Lenin Statue तोडे जाने के बाद बीजेपी के राष्ट्रीय सचिव एच राजा ने फेसबुक पोस्ट के माध्यम से कहा, कि लेनिन के बाद अब तमिलनाडु में Periyar Statue की बारी है। एच राजा ने पेरियार को जातिवादी भी कहा तथा उन्होंने लिखा है कि, लेनिन कौन थे? और उनका भारत से क्या संबंध है? विवाद बढ़ने के बाद उन्होंने फेसबुक पोस्ट को डिलीट कर दिया। फेसबुक पोस्ट के मामले को लेकर पूछे गए सवाल पर बीजेपी नेता ने कहा मेरे फेसबुक पेज पर वह पोस्ट मेरी अनुमति के बिना किया गया था। जब मुझे इस बात का पता चला तो मैंने फौरन उस पोस्ट को डिलीट कर दिया। फिलहाल तमिलनाडु पुलिस ने पेरियार की Statue को आघात पहुंचाने के मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया है पुलिस ने बताया कि गिरफ्तार दो लोगों में एक बीजेपी और दूसरा सीपीआई का कार्यकर्ता है।

इस मामले को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जताई नाराजगी

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में तोडे जा रहे Statue की घटना को लेकर नाराजगी व्यकत की है। इस बीच गृह मंत्रालय ने बताया कि Statue तोडे जाने के मामले को लेकर खुद प्रधानमंत्री ने मंत्रालय से बात की। गृह मंत्रालय का कहना है कि कि देश में किसी भी भाग में ऐसी घटना हो वहां इसे रोकने के लिए जरूरी कदम उठाए जाएं।

Article Categories:
News

Leave a Reply

Shares