नए साल पर महिलाओं को “पिंक ऑटो’ का तोहफा

Written by
Pink Auto

बेंगलुरू। सामाजिक मुद्दे पर बनाई गई फिल्म “पिंक” को  इस साल के लिए नेशनल अवॉर्ड मिला। महिला सशक्तीकरण के ऊपर बनाई गई इस फिल्म को दर्शकों ने खूब पसंद किया। फिल्म का मैसेज बिल्कुल साफ है कि “No means No”। हम जिस समाज में जी रहे हैं वहां लड़कियों की आजादी और बराबरी की बात महज बोलने के लिए है। ऐसे माहौल में महिला सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए बेंगलुरू में “पिंक ऑटो” की शुरुआत की जा रही है।

“पिंक ऑटो” महिलाओं के लिए होगा सुरक्षित

बेंगलुरू की सड़कों पर “पिंक ऑटो” केवल महिलाओं और बच्चों के लिए चलाए जाने की योजना है। इसको लेकर बेंगलुरू के मेयर संपत राज ने कहा कि BBMP के सोशल वेलफेयर स्कीम के तहत 20 फीसदी ऑटो को महिलाओं और बच्चों के लिए रिजर्व किया जाएगा। बेंगलुरू की सड़कों पर 20 फीसदी “पिंक ऑटो” चलेगा। “पिंक ऑटो” की शुरुआत जनवरी 2018 में होने की संभावना है। महिला सुरक्षा के मद्देनजर कर्नाटक सरकार ने बेंगलुरू शहर में महिला चालकों के लिए स्पेशल पार्किंग की भी व्यवस्था की है।

“पिंक ऑटो” खरीदने पर मिलेगी छूट

बेंगलुरू महानगर पालिका (BBMP) द्वारा सोशल वेलफेयर स्कीम के तहत करीब 400 ऑटो वितरित किया जाता है। इसमें से 20 फीसदी ऑटो “पिंक ऑटो” के रूप में सड़कों पर उतारा जाएगा। इस स्कीम के तहत अगर आप “पिंक ऑटो” खरीदने के बारे में सोच रहे हैं तो आपको 25 हजार रुपए तक की छूट भी मिलेगी। “पिंक ऑटो” को प्रमोट करने के लिए बेंगलुरू महानगर पालिका  CSR फंड भी इकट्ठा कर रही है। “पिंक ऑटो” का कॉन्सेप्ट नया नहीं है। बेंगलुरू से पहले नोएडा, गुड़गांव और गाजियाबाद में भी “पिंक ऑटो” की शुरुआत की गई थी लेकिन प्रयोग बहुत ज्यादा सफल नहीं रहा। फिर भी उम्मीद करते हैं कि दिल्ली-NCR की खामियों से सबक लेकर बेंगलुरू में “पिंक ऑटो” का प्रयोग सफल हो सकेगा।

 

Article Categories:
News

Leave a Reply

Shares