प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मध्यप्रदेश के 1.75 लाख परिवारों को गृह प्रवेश करवाया

Written by

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के तहत मध्‍य प्रदेश में 12 हजार गांवों में एक लाख 75 हजार आवासों का लोकार्पण किया। प्रधानमंत्री ने गृह प्रवेशम पट्टिका जारी की और एक साथ सभी घरों का लोकार्पण किया। उनसे बातचीत में प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार गरीबों की समस्‍याएं दूर करने के लिए हर संभव कार्य कर रही है।

इन सभी आवासों का निर्माण Covid-19 महामारी काल की चुनौतियों के बीच किया गया है। उन्‍होंने Video conferencing के माध्‍यम से धार, सीधी, सिंगरौली और ग्‍वालियर जिलों के कुछ लाभार्थियों से बातचीत भी की।

इस बातचीत का प्रसारण सोलह हजार चार सौ चालीस ग्राम पंचायतों और 26 हजार पांच सौ 48 गांवों में किया गया। एक करोड़ से ज्‍यादा लोगों ने इसे सुनने के लिए पंजीकरण कराया था।

इस मौके पर प्रधानमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना सिर्फ लोगों को आवास उपलब्‍ध कराने के लिए नहीं है, बल्कि ये गरीबों में आत्‍मविश्‍वास भरने की भी है, ताकि वे रोजमर्रा के संघर्ष को बेहतर भविष्‍य के निर्माण पर ध्‍यान केन्द्रित कर सके और चैन की नींद सो सके।

इस योजना को आपदा को अवसर में बदलने का बेहतर उदाहरण बताते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि Covid-19 की विभिन्‍न चुनौतियों के बावजूद 18 लाख आवासों के निर्माण का कार्य पूरा किया गया। इनमें से एक लाख 75 हजार आवास मध्‍य प्रदेश में ही बनाए गए हैं और निर्माण कार्य 125 दिन की बजाए 35-40 दिन में ही पूरा कर लिया गया है।

कुशल श्रम शक्ति के योगदान की चर्चा करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आवासों का जल्‍द निर्माण हमारे श्रमिक भाईयों के योगदान से संभव हो पाया है, जिन्‍होंने शहरों से वापस लौटकर गरीब लोगों के लिए आवास निर्माण में प्रधानमंत्री गरीब कल्‍याण रोजगार योजना का लाभ उठाया।

प्रधानमंत्री ने कहा कि स्‍वच्‍छ भारत, मनरेगा, उज्‍जवला और सौभाग्‍य जैसी विभिन्‍न योजनाओं को गरीबों के आवास योजना से जोड़ा गया है, ताकि सामूहिक प्रयासों से निर्धनों का सपना पूरा किया जा सके।

इस मौके पर मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि लाभार्थी परिवारों के लिए आज का दिन नए जीवन की शुरूआत है। मध्‍य प्रदेश में अब तक 17 लाख निर्धन परिवारों को प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण का लाभ मिल चुका है।

मुख्‍यमंत्री ने बताया कि प्रधानमंत्री के जन्‍मदिवस 17 सितंबर से राज्‍य के 37 लाख गरीबों को राशन के लिए पर्ची बांटी जाएगी। सरकार के प्रमुख कार्यक्रम प्रधानमंत्री आवास योजना – पीएमएवाई ने दूर – दराज के गावों में अनेक बेघर परिवारों की जिंदगी बदल दी है। प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी  ने ”2020 तक सबके लिए आवास” का नारा दिया। इसके लिए 20 नंवबर 2016 से प्रधानमंत्री आवास योजना- ग्रामीण की शुरूआत की गई थी। इसके तहत अब तक एक करोड़ 14 लाख आवासों का निर्माण हो चुका है। मध्‍य प्रदेश सरकार ने निर्धन लोगों को अतिरिक्‍त सुविधा पहुंचाने के लिए समृद्धि पर्यावास अभियान के तहत सामाजिक सुरक्षा, पेंशन योजना, राशन कार्ड, प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना, राष्‍ट्रीय ग्रामीण आजिविका मिशन जैसी 17 अन्‍य योजनाओं को जोड़ा है।

Article Categories:
News

Comments are closed.

Shares