मोदी ने यूँ उड़ाई राहुल की ‘NYAY’ की धज्जियाँ और ‘सराब’ की भी ले डाली खबर : ‘जो खाता नहीं खुलवा सके, वो पैसा क्या डालेंगे ? सबूत चाहिए कि सपूत ? चौकीदार चाहिए या दागदार ?’ : VIDEO

Written by

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने लोकसभा चुनाव 2019 के प्रचार अभियान का फिर एक बार उत्तर प्रदेश के मेरठ से शुभारंभ किया। पाँच वर्ष पूर्व लोकसभा चुनाव 2014 का चुनाव प्रचार अभियान भी मोदी ने मेरठ से ही किया था।

लोकसभा चुनाव 2019 की घोषणा के बाद मोदी पहली बार बुधवार को मिशन शक्ति को लेकर देश को संबोधित करते नजर आए और गुरुवार को उन्होंने पहली चुनावी रैली मेरठ में की। मेरठ से दहाड़ते हुए मोदी ने एक तरफ कांग्रेस, उसके अध्यक्ष राहुल गांधी, उसकी न्यूनतम् आय योजना (NYAY) पर तगड़े प्रहार किए, वहीं उत्तर प्रदेश में भाजपा के खिलाफ बने समाजवादी पार्टी (सपा), बहुजन समाज पार्टी (बसपा) और राष्ट्रीय लोकदल (रालोद) को भी अनेक शाब्दिक प्रहारों से घेरा।

मोदी ने सबसे पहले तो राहुल गांधी द्वारा घोषित न्याय योजना पर तीखा व्यंग्य कसते हुए कहा, ‘जब मैं बैंक खाते खुलवाता था, तो कुछ बुद्धिमान लोग कहते थे कि देश में बैंक ही नहीं हैं, खाते से क्या होगा। मैं पूछता हूँ कि जो लोग 50 वर्षों में गरीबों का खाता नहीं खुलवा सके, वो पैसे क्या डालेंगे।’ साथ ही मोदी ने मिशन शक्ति पर राहुल की ‘हैप्पी वर्ल्ड थियेटर डे’ वाली प्रतिक्रिया पर पलटवार करते हुए कहा, ‘जीन हो, आसमान हो या फिर अंतरिक्ष, सर्जिकल स्ट्राइक का साहस आपके इसी चौकीदार की सरकार ने दिखाया है। हमने अंतरिक्ष में 300 किलोमीटर दूर जब लाइव सैटेलाइट को अपनी एंटी-सैटेलाइट (A-SAT) मिसाइल से मार गिराया, तो उनको (राहुल गांधी) समझ में नहीं आया कि हुआ क्या है। जब हम एसैट की बात कर रहे थे, तब वो थियेटर सेट की बात कर रहे थे। जो लोग सबूत मांगते हैं, मैं 130 करोड़ लोगों से पूछना चाहता हूँ कि उन्हें सबूत चाहिए या सपूत चाहिए, जिन्हें सबूत चाहिए, वे सपूत के पराक्रम पर सवाल खड़ा कर रहे हैं।

मोदी ने सबूत मांगने वालों को घेरते हुए कहा कि यहाँ के विरोधी आज पाकिस्तान में छाए हुए हैं, उनके नाम की तालियाँ बजा रहे हैं। इस देश को हिन्दुस्तान के हीरो चाहिए या पाकिस्तान के हीरो चाहिए ? हमारे देश ने पाकिस्तान में घुस कर जो किया, अगर उसमें गड़बड़ी हो जाती, तो ये लोग मोदी को ही गाली देते। मोदी ने लोगों को आश्वस्त किया कि इस चौकीदार को कोई नहीं झुका सकता।

उन्होंने मोदी विरोध के नाम पर बन रहे महागठबंधनों पर तीखा प्रहार करते हुए कहा, ‘अगर महामिलावटी लोगों को ज़रा भी मौका मिल गया, तो देश फिर पुरानी स्थिति में चला जाएगा। विरोधी बौखला गए हैं। यह बात देश दो महिनों से देख रहा है। जो लोग चौकीदार को चुनौती देते थे, अब रो रहे हैं। मोदी ने ये क्यों किया, मोदी ने आतंकियों को क्यों मारा, मोदी ने घर में घुस कर क्यों मारा। इन महामिलावटी लोगों की सरकार जब दिल्ली में थी, तब देश में आएदिन धमाके होते थे। ये महामिलावटी आतंकियों को संरक्षण देते थे, ये आतंकियों की भी जात और पहचान देखते थे। उसके आधार पर तय करते थे कि आतंकियों को बचाना है या सज़ा देनी है।’

पीएम मोदी ने लोगों से पूछा कि एक तरफ चौकीदार है और दूसरी तरफ दागदारों की भरमार है। आपको चौकीदार चाहिए या दागदार ?

प्रधानमंत्री ने इसके अलावा गरीबी, बेरोजगारी, वन रैंक-वन पेंशन (OROP) जैसे कई मुद्दों पर भी घेरा और फिर लपेटे में लिया यूपी में बने मोदी-भाजपा विरोधी गठबंधन को।

मोदी ने समाजवादी पार्टी, राष्ट्रीय लोक दल और बहुजन समाज पार्टी के गठबंधन को तीनों पार्टियों के प्रथम अक्षर से मिला कर ‘सराब’ बताया। हालाँकि मोदी जिस शराब की बात कर रहे थे, उसमें श आता है, परंतु मोदी ने सपा के स को मिला कर सराब शब्द का इस्तेमाल शराब के रूप में करते हुए कहा कि शराब सेहत के लिए हानिकारक होती है।

बसपा सुप्रीमो मायावती पर हमला करते हुए मोदी ने कहा, ‘जिस पार्टी (सपा) के नेताओं को जेल भेजने के लिए बहनजी (मायावती) ने जीवन के दो दशक लगा दिए, उसी से हाथ मिला लिया। जिस दल के नेता गेस्ट हाउस में उन्हें खत्म करना चाहते थे, अब वो उनके साथी हो गए।’

नरेन्द्र मोदी ने सपा-बसपा से हाथ मिलाने वाले रालोद अध्यक्ष अजित सिंह से पूछा कि उनके पिता (चौधरी चरण सिंह) को प्रधानमंत्री पद से किसने हटाया था। क्या वे यह भूल गए हैं ?

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2017 का उल्लेख करते हुए मोदी ने कहा, ‘पिछले चुनाव में 2 लड़कों (अखिलेश यादव और राहुल गांधी)’ का खेल देखा और अब बुआ-बबुआ (मायावती-अखिलेश) का खेल हुआ। ये भी बड़ा गज़ब है। बोर्ड बदलने से दुकानें नहीं बदलतीं। यूपी की जनता 2014 और 2017 से भी ज्यादा आशीर्वाद देगी।

नीचे दिए गए VIDEO पर क्लिक कर आप भी सुनिए मोदी का मेरठ में दिया गया पूरा भाषण :

Article Categories:
News

Leave a Reply

Shares