जानिए क्या है E-property card ,प्रधानमंत्री मोदी करेंगे वितरण

Written by

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी आज दोपहर मध्‍य प्रदेश में video conference के जरिए स्‍वामित्‍व योजना के लाभार्थियों के साथ संवाद करेंगे। इस दौरान वे एक लाख 71 हजार लाभ‍ार्थियों को E-property card भी वितरित करेंगे। मध्‍य प्रदेश के मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान इस अवसर पर उपस्थित रहेंगे।

स्‍वामित्‍व, पंचायती राज मंत्रालय के अंतर्गत केन्‍द्रीय क्षेत्र की योजना है। इसका उद्देश्‍य ग्रामीण क्षेत्रों के निवासियों को सम्‍पत्ति के अधिकार प्रदान करना है। पिछले महीने की 25 तारीख को संयुक्‍त राष्‍ट्र महासभा के अधिवेशन को सम्‍बोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा था कि इस योजना से ग्राम वासी अपनी संपत्ति का इस्‍तेमाल शहरी क्षेत्रों की तरह ऋण और अन्‍य वित्‍तीय लाभ लेने के लिए कर सकेंगे।

इस योजना का उद्देश्‍य नवीनतम सर्वेक्षण ड्रोन-प्रौद्योगिकी के माध्‍यम से ग्रामीण क्षेत्रों में रिहायशी भूमि का सीमांकन करना है। इस योजना से देश में ड्रोन विनिर्माण तंत्र को भी बढावा मिलेगा।

क्या है E-property card
दरअसल, आज तक गांवों में रहने वाले लोगों के पास उनके आवास के मालिकाना हक का कोई दस्तावेज नहीं है. लेकिन इस योजना के अंतर्गत शहरों और गांवों में सभी को उनकी जमीन के कागजात मिल सकेंगे. गांवों में drone जैसी latest technology से जिस प्रकार Mapping and Surveying किया गया, उससे हर गांव का Accurate land Records बन गया. जिसके बाद लोगों को अब उसके मालिकाना हक का document online मुहैया करवाया जाएगा, जिसे E-property card भी कह सकते हैं.

Article Categories:
News

Comments are closed.

Shares