HOT HOT हिन्दुस्तान को COOL COOL कर देगी मोदी की यह सौगात : जानने के लिए तुरंत CLICK करें

Written by

अहमदाबाद, 28 मई, 2019। निवर्तमान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 1 मई 2015 में उजाला योजना लागू करके घर-घर को सस्ते LED बल्ब और ट्यूबलाइट से रोशन किया और बिजली की खपत में बचत की। इस योजना की सफलता के बाद सरकार सौभाग्य योजना लाई और बिजली कनेक्शन से वंचित घरों व गाँवों को एलईडी बल्ब, ट्यूबलाइट और पंखे देकर अंधकार में डूबे घरों तथा गाँवों में उजाला फैलाया। अब सरकार बिजली की बचत के क्षेत्र में एक और कदम आगे बढ़ने जा रही है। नई सरकार के गठित होने के बाद मोदी सरकार HOT-HOT हिंदुस्तान को COOL-COOL सौगात देने जा रही है।

2014 में केन्द्र में मोदी सरकार आने के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 1 मई-2015 को देश भर में उजाला फैलाने के लिये उजाला योजना उत्तर प्रदेश के बलिया से लॉन्च की थी। इस योजना के तहत सरकार के विद्युत मंत्रालय के अधीन काम करने वाली एनर्जी एफिशियंसी सर्विसेज़ लिमिटेड (EESL) के माध्यम से एलईडी बल्ब की निर्माता कंपनियों से थोक में एलईडी बल्ब खरीदे और देश के 125 शहरों में 75 रुपये के सस्ते दाम से एलईडी बल्ब बेचे। सरकार की इस योजना से एलईडी बल्ब कीमत 88 प्रतिशत तक घट गई। इतना ही नहीं, घरों से बाहर स्ट्रीट लाइट और दूसरी जगहों पर भी बड़ी संख्या में एलईडी बल्ब उपयोग होने लगे। सरकार ने इस उजाला योजना के तहत पहले एक वर्ष में ही लगभग 9 करोड़ एलईडी बल्ब बेचने में सफलता अर्जित की। इससे 550 करोड़ रुपये की प्रत्यक्ष बचत हुई।

पिछले वर्ष 15 अगस्त-2018 को जारी हुए आँकड़ों के अनुसार सरकार 30,72,34,251 एलईडी बल्बों की बिक्री कर चुकी है, इससे प्रति वर्ष 15,960 करोड़ रुपये की बचत हुई। सरकार के अनुसार इस उजाला योजना से प्रत्यक्ष रूप से 3,99,000 मिलियन किलोवॉट बिजली की प्रति घण्टा बचत हो रही है और 3,64,00,000 यूनिट बिजली की प्रति दिन बचत हो रही है। इतना ही नहीं, प्रति वर्ष 2.80 करोड़ टन कार्बन का उत्सर्जन भी रुका है। बची हुई बिजली को सरकार उपेक्षित क्षेत्रों में उपयोग कर पा रही है। यह उजाला योजना अप्रत्यक्ष रूप से अटल ज्योति योजना, राष्ट्रीय स्ट्रीट लाइट योजना तथा रेलवे के आधुनिकीकरण को भी बाहरी समर्थन देकर देश के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है।

सरकार ने एलईडी बल्ब की सफलता से प्रेरित होकर इसमें 220 रुपये में एलईडी ट्यूबलाइट और 1,100 रुपये इलेक्ट्रिक सीलिंग पंखा बेचने की भी शुरुआत की। इसे भी अपेक्षित समर्थन प्राप्त हो रहा है। सरकार की सफलता को इस बात से भी आँका जा सकता है कि केन्द्र सरकार की इस योजना से प्रेरित होकर मलेशिया ने 2017 में भारत के साथ करार किया और भारत ने मलेशिया के मेलका शहर को एलईडी बल्ब की रोशनी से रोशन कर दिया।

इसके बाद सरकार ने बिजली कनेक्शन से वंचित गाँवों और गरीब परिवारों के घरों तक बिजली कनेक्शन पहुँचाने के लिये सौभाग्य यानी हर घर बिजली योजना की शुरुआत की। सरकार की ओर से इस योजना में गरीब परिवारों को 5 सस्ते एलईडी बल्ब, ट्यूबलाइट्स और इलेक्ट्रिक पंखे उपलब्ध कराने की शुरुआत की है। एलईडी बल्ब-ट्यूबलाइट-पंखा योजना की अवधि 31 मार्च-2019 को समाप्त हो चुकी है।

गरमी का पारा तेजी से बढ़ता जा रहा है, पृथ्वी के लगातार दोहन से पृथ्वी का भार कम होता जा रहा है और इस कारण सूर्य तथा पृथ्वी के बीच की दूरी कम होती जा रही है। इससे पृथ्वी गर्म हो रही है। बढ़ती गरमी के कारण जीव-सृष्टि हैरान-परेशान हो उठी है। गरमी का पारा जिस गति से बढ़ता जा रहा है, उसे देखते हुए हर कोई गरमी से राहत के लिये एयरकंडीशन की ठंडक पाना चाहता है, परंतु एयरकंडीशन की ऊंची कीमतों को देखते हुए लोग अपना मन मसोसकर रह जाते हैं। हालाँकि मोदी सरकार ने अपनी प्रजा का मन पढ़ लिया है और अब पीएम मोदी अपनी प्रजा के लिये कूल-कूल सौगात लेकर आए हैं।

केन्द्र में नई सरकार गठित होने के बाद पीएम मोदी अपनी प्रजा को सस्ते एयरकंडीशन (AC) उपलब्ध कराएगी। प्राप्त सूचनाओं के अनुसार केन्द्र सरकार बाजार में उपलब्ध एसी की तुलना में 20 से 30 प्रतिशत तक कम दामों में एसी उपलब्ध कराएगी। सरकारी कंपनी ईईएसएल एसी बनानेवाली कंपनियों से थोक में सस्ती दर पर एसी खरीदेगी और बिजली वितरण कंपनी (DISCOM) के माध्यम से लोगों को सस्ते दाम पर बेचेगी। एसी ऑनलाइन खरीदने की व्यवस्था की जाएगी। ऑर्डर दिये जाने के बाद 24 घण्टे में एसी आपके घर में फिट कर दिया जाएगा। एसी पर एक वर्ष की गारंटी दी जाएगी, जबकि उसके कंप्रेशर की गारंटी 5 साल की होगी। सरकार की ओर से बेचे जाने वाले इन एसी की खासियत यह होगी कि यह आपके बिजली के बिल में भी 35 से 40 प्रतिशत तक की कटौती करेंगे। जबकि बाजार में मिलने वाले 5 स्टार एसी आपके बिजली के बिल को बढ़ाने का काम करते हैं। सरकार की ओर से यह एसी जुलाई से उपलब्ध कराये जाने की संभावना है। यह एसी वही लोग ले पाएँगे, जिनके नाम पर घर का लाइट बिल आता है। ऑनलाइन ऑर्डर देने की शर्त भी यही होगी कि आपको लाइट बिल दिखाना होगा।

Article Categories:
News

Leave a Reply

Shares