प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वामी विवेकानंद को याद किया

Written by

नयी दिल्ली 11 सितंबर  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वामी विवेकानंद के 1893 में शिकागो में दिए गए ऐतिहासिक भाषण को याद करते हुए आज कहा कि उन्होंने बड़ी ही खूबसूरती से भारतीय संस्कृति की विशेषता को दुनिया के सामने रखा था।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वामी विवेकानंद के इस भाषण के 128 वर्ष पूरे होने के मौके पर शनिवार को एक ट्वीट संदेश में कहा, “ स्वामी विवेकानंद के 1893 में दिए गए भाषण को याद कर रहा हूं जिसमें बड़ी ही सुंदरता के साथ भारतीय संस्कृति की विशेषताओं को उन्होंने दुनिया के सामने रखा था। इस भाषण की भावना में पृथ्वी को समृद्ध और समावेशी बनाने की शक्ति है।”

जानें भाषण में स्वामी विवेकानंद जी ने क्या कहा था

अमेरिका की बहनों और भाइयों,आपने हमारा जिस गर्मजोशी और सौहार्दपूर्ण स्‍वागत किया है  उसने मेरे मन को एक आनंद से भर दिया है। मैं दुनिया में भिक्षुओं के सबसे प्राचीन क्रम के नाम पर आपको धन्यवाद देता हूं। धर्मों की जननी के नाम से मैं आपको धन्यवाद देता हूं और मैं सभी वर्गों और संप्रदायों के लाखों-करोड़ों हिंदू लोगों के नाम पर आपको धन्यवाद देता हूं।मेरा धन्यवाद, इस मंच के कुछ वक्ताओं को भी है जिन्होंने ओरिएंट के प्रतिनिधियों का जिक्र करते हुए, आपको बताया है कि दूर-दराज के देशों के ये लोग अलग-अलग देशों में सहनशीलता के विचार को धारण करने के सम्मान का दावा कर सकते हैं।मुझे एक ऐसे धर्म से संबंधित होने पर गर्व है जिसने दुनिया को सहिष्णुता और सार्वभौमिक स्वीकृति दोनों सिखाई है। हम न केवल सार्वभौमिक सहिष्णुता में विश्वास करते हैं, बल्कि हम सभी धर्मों को सत्य मानते हैं। मुझे एक ऐसे राष्ट्र से संबंधित होने पर गर्व है। जिसने सभी धर्मों और पृथ्वी के सभी राष्ट्रों के उत्पीड़ितों और शरणार्थियों को आश्रय दिया है।

Article Tags:
Article Categories:
News

Comments are closed.

Shares