राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने सैन्य अधिकारियों को वीरता पुरस्कार से अलंकृत किया

Written by

राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कल राष्‍ट्रपति भवन में रक्षा अलंकरण समारोह में सशस्‍त्र बलों के कर्मियों को वीरता पुरस्‍कार और विशिष्‍ट सेवा अलंकरण से सम्‍मानित किया। राष्‍ट्रपति ने अभियांत्रिकी कोर के सप्‍पर प्रकाश जाधव को मरणोपरांत शांतिकाल का दूसरा उच्‍चतम वीरता पुरस्‍कार कीर्ति चक्र से सम्‍मानित किया। श्री जाधव ने जम्‍मू-कश्‍मीर में एक अभियान के दौरान आतंकवादियों की साजिशों को विफल किया था।

मेजर विभूति शंकर ढोंडियाल को मरणोपरांत शौर्य चक्र से सम्‍मानित किया गया। उन्‍होंने पांच आतंकवादियों का सफाया किया और दो सौ किलोग्राम विस्‍फोटक सामग्री बरामद करने में अहम भूमिका निभाई। उनकी पत्‍नी लेफ्टीनेंट नितिका कौल और उनकी मां सरोज ढोंडियाल ने पुरस्‍कार प्राप्‍त किया। नायब सूबेदार सोमबीर को मरणोपरांत शौर्य चक्र से सम्‍मानित किया गया। उन्‍होंने जम्‍मू कश्‍मीर में एक अभियान के दौरान एक खूंखार आतंकवादी को मार गिराया था। उनकी पत्‍नी और माताजी ने यह पुरस्‍कार प्राप्‍त किया। पाकिस्‍तान के एफ-16 लड़ाकू विमान को मार गिराने के लिए ग्रुप कैप्‍टन अभिनन्‍दन वर्धमान को वीर चक्र से सम्‍मानित किया गया।

विंग कमांडर वर्धमान अभिनंदन ने अपनी व्‍यक्तिगत सुरक्षा की परवाह न करते हुए अपने कर्तव्‍य के प्रति असाधारण समर्पण तथा शत्रु के सामने अदम्‍य साहस और शौर्य का प्रदर्शन किया।

Article Categories:
News

Comments are closed.

Shares