प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने किया जेवर में एशिया के सबसे बड़े एयरपोर्ट का शिलान्‍यास

Written by

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी आज उत्‍तर प्रदेश के जेवर में नोएडा अंतरराष्‍ट्रीय हवाई अड्डे की आधारशिला रखेंगे। इसका विकास सम्‍पर्क बढाने और अत्‍याधुनिक विमानन क्षेत्र सृजित करने की प्रधानमंत्री की परिकल्‍पना के अनुरूप है। जेवर में नया एयरपोर्ट व्‍यापक निवेश आकर्षित करने, औद्योगिक वृद्धि की गति तेज करने तथा स्‍थानीय उत्‍पादों को राष्‍ट्रीय और अंतरराष्‍ट्रीय बाजारों तक पहुंचाने में महत्‍वपूर्ण भूमिका अदा करेगा। इससे अनेक उद्यमों के साथ रोजगार के अवसर भी उपलब्‍ध होंगे।

हवाई अड्डे के पहले चरण का विकास दस हजार करोड रुपये से अधिक की लागत से किया जा रहा है। यह हवाई अड्डा उत्‍तर भारत के लिए प्रमुख प्रवेश द्वार होगा। इसमें रेलवे स्‍टेशन, बस सेवा और निजी पार्किंग सहित बहु-माध्‍यम परिवहन केन्‍द्र की व्‍यवस्‍था होगी। हवाई अड्डा व्‍यापक रूप से सड़क, रेल और मैट्रो मार्ग से जुडा होगा। हमारे संवाददाता ने बताया कि यह देश का पहला एयरपोर्ट होगा जो कार्बन उत्सर्जन मुक्त होगा।

राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली में इंदिरागांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा के बाद यह दूसरा अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा होगा। Delhi, Noida, Ghaziabad, Aligarh, Agra, Faridabad और आस-पास के यात्री इससे लाभान्वित हो सकेंगे। इसके साथ ही दिल्ली देश का पहला शहर बन जाएगा, जहां 70 किलोमीटर के दायरे में तीन एयरपोर्ट होंगे। यात्रियों की सुविधा के लिए नोएडा और दिल्ली को निर्वाध मेट्रो सेवा के जरिए जोड़ा जाएगा। उत्तर प्रदेश को विश्व मानचित्र पर लाने में Noida International Airport महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। भारत में पहली बार किसी हवाई अड्डे में मल्टीमॉडल कानून केन्द्र की व्यवस्था होगी।

Article Categories:
News

Comments are closed.

Shares