ख़ुशख़बरी : अब बैंकों में लंबी लाइनों में लगने से मिलेगा छुटकारा…

Written by

रिपोर्ट : तारिणी मोदी

अहमदाबाद, 18 अक्टूबर, 2019 (युवाPRESS)। जब घर आ जाए बैंक, तो क्यो लगाएँ लंबी लाइन। जी हाँ, यदि आपका खाता भी किसी सरकारी बैंक में है, तो हो जाइए निश्चिंत। अब न आपको बैंक जाने की आवश्यकता पड़ेगी और न वहाँ लंबी लाइनों में लगना पड़ेगा। सार्वजनिक क्षेत्र के सभी (सरकारी) बैंक (PSB) अपनी नई योजना डोरस्टेप (Doorstep) शुरू करने जा रहे हैं। इस योजना के तहत सरकारी बैंकों के करोड़ों ग्राहकों को अब घर बैठे सेवाएँ मिलेंगी। पैसे जमा करना हो या फिर निकालना हों, बैंक घर आकर आपके सभी काम स्वयं करेगी। डोरस्टेप डिलिवरी योजना का लाभ शारीरिक रूप से अक्षम लोगों और वरिष्ठ नागरिकों के लिए बहुत ही सहायक सिद्ध होगा।

रिज़र्व बैंक ऑफ इंडिया (Reserve Bank of India) यानी RBI कई वर्षों से डोरस्टेप बैंकिंग की योजना बना रही थी और 2017 में जारी सर्कुलर में बैंक जाने में असमर्थ लोगों के लिए डोर स्टेप सुविधा मुहैया कराने का निर्देश दिया था, जिसे सार्वजनिक बैंकों ने अब गंभीरता से लेते हुए एक साथ मिलकर एक कॉमन सर्विस प्रोवाइडर नियुक्त करने की योजना बनाई है, जो सभी ग्राहकों तक सुविधाएँ पहुँचाने का काम करेगी। इसी के साथ यूको बैंक (United Commercial Bank) ने सभी सरकारी बैंकों की ओर से ‘रिक्वेस्ट ऑफ प्रपोजल (RFP)’ जारी कर प्राइवेट प्लेयर्स की मांग की है, जो कॉल सेंटर, वेबसाइट और मोबाइल ऐप की सुविधा प्रदान करेगी, जिनके जरिए सेवा अनुरोध प्रविष्ट किया जा सकेगा। RFP के सेवा मानदंड के अनुसार एक दिन में एक निश्चित समय तक दर्ज किए गए सेवा के सभी अनुरोधों का उसी दिन निपटारा किया जाएगा। कट-ऑफ समय के बाद किए गए अनुरोधों को अगले दिन फर्स्ट हाफ तक पूरा करना होगा। बैंक 3 साल के लिए एक कॉन्ट्रैक्टर के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर करेगी, जिसे अगले दो वर्षों तक बढ़ाया भी जा सकता है।

बैंक इन सभी सोवाओं के लिए एक सर्विस प्रोवाइर एजेंट मुहैया कराएगा। ये एजेंट ग्रहाकों को छोटी डिवाइसेस के जरिए डिपॉजिट और विदड्रॉल के साथ-साथ वित्तीय व गैर वित्तीय सेवाएँ भी उपलब्ध कराएँगे। शुरुआत में डोरस्टेप बैंकिंग की सुविधा सिर्फ वरिष्ठ नागरिकों और दिव्यांग लोगों को ही दी जाएगी, जिन्हें बैंक की ब्रांचों तक पहुँचने में असुविधा होती है, इसके बाद अन्य ग्राहकों को भी यह सुविधा मिलने लगेगी। इस योजना का लाभ उठाने के लिए ग्रहकों को एक निर्धारित फीस देनी होगी। डोरस्टेप योजना सरकारी बैंक की बढ़ी पहुँच और सेवा उत्कृष्टता (Enhanced Access and Service Excellence) यानी EASE प्रोग्राम का एक भाग है। पब्लिक सेक्टर बैंक (PSB) भी अपने लाखों ग्राहकों के लिए डोरस्टेप बैंकिंग सेवा जल्द शुरू करने जा रही है। इस सुविधा का उपयोग कर ग्राहक पैसा डिपोजिट और विड्रॉ दोनों कर सकेंगे।

वहीं इससे पहले देश की सबसे बड़ी सरकारी बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने स्पेशल ग्राहकों के लिए डोर-स्टेप बैंकिंग सुविधा लॉन्च कर दी है। इसके तहत एसबीआई के 70 साल से ज्यादा और दिव्यांगों ग्राहरों को बैंकों में लंबी लाइन में खड़ा नहीं होना पड़ेगा। बैंक के 5 किलोमीटर के दायरे में रहने वाले लोगों को यह सुविधा मुहैया कराई जाएगी। इस सर्विस के लिए प्रति ट्रांजैक्शन 100 रुपए देने होंगे। इस सर्विस का फायदा उठाने के लिए कस्टमर को अपनी नजदीकी ब्रांच में रजिस्टर कराना होगा। साथ ही इस सर्विस के बारे में https://www.sbi.co.in/portal/web/services/doorstep-banking-services पर जानकारी मिलेगी।

Article Categories:
News

Comments are closed.

Shares