SC के फैसले के ज़ोर पर राहुल के शोर को सरकार और भाजपा का जवाब, ‘कुछ ग़लत नहीं किया, मोदी पर जनता को विश्वास’

सुप्रीम कोर्ट (SC) के राफेल डील पर आज सुनाए गए फैसले के जोर पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के विरुद्ध जम कर शोर मचा रहे हैं, परंतु केन्द्र सरकार और भाजपा ने पलटवार करते हुए दो टूक कहा, ‘मोदी सरकारने कुछ ग़लत नहीं किया, जनता को मोदी पर पूरा भरोसा है।’

सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को राफेल डील के लीक हुए दस्तावेजों को वैध करार देते हुए उन पर सुनवाई करने की तैयारी क्या दिखाई, राहुल गांधी को लगा, जैसे सुप्रीम कोर्ट के फैसले से पीएम मोदी पर भ्रष्टाचार का आरोप सिद्ध हो गया। राहुल के साथ ही मोदी विरोधी टोली के हर छोटे-बड़े नेताओं ने मीडिया और सोशल मीडिया पर मोदी के विरुद्ध अपनी भड़ास निकालने के मिले इस अवसर को जाने नहीं दिया, परंतु रक्षा मंत्रालय और भाजपा ने इन सभी को संक्षिप्त में ही करारा जवाब दे दिया है।

आरोप लगाने वालों को देश की सुरक्षा की चिंता नहीं : रक्षा मंत्रालय

रक्षा मंत्रालय ने इस बात पर आपत्ति जताते हुए कहा है कि याचिकाकर्ताओं (जो केवल और केवल मोदी का विरोध करने पर आमादा है) ने जान-बूझ कर राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़े मामले में आंतरिक गुप्त विमर्श की चुनिंदा और अधूरी जानकारी पेश की है। याचिकाकर्ताओं की ओर से प्रस्तुत दस्तावेजों में यह नहीं बताया गया है कि कैसे कुछ मामलों को समझ कर उनका निपटारा किया गया। न ही इन दस्तावेजों में योग्य अधिकारियों की स्वीकृति की जानकारी है। दस्तावेज में रिकॉर्ड्स और तथ्य की भी अधूरी जानकारी दी गई है। सरकार ने एससी को पहले ही सभी आवश्यक जानकारियाँ उपलब्ध करा दी थीं। इसके अलावा भारत के नियंत्रक एवं महालेखापरीक्षक (CAG) को भी सभी रिकॉर्ड्स तथा फाइल्स दी गईं। सरकार को सिर्फ राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़ी संवेदनशील और गोपनीय जानकारी के सार्वजनिक होने की चिंता है।

सरकार को झटका नहीं : रविशंकर प्रसाद

केन्द्रीय मंत्री और पटना साहिब से चुनाव लड़ रहे भाजपा उम्मीदवार रविशंकर प्रसाद ने कहा कि एससी का निर्णय मोदी सरकार के लिए झटका नहीं है। अदालत ने केस के मेरिट पर फैसला नहीं दिया है। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी एससी के फैसले से पार्टी और स्वयं को मॉटिवेट करने की कोशिश कर रहे हैं।

जनता को मोदी पर विश्वास : राम माधव

उधर भाजपा महासचिव और प्रवक्ता राम माधव ने कहा, ‘सुप्रीम कोर्ट जो चाहती थी, वो सब कुछ सरकार ने उसके समक्ष प्रस्तुत किया है। इसमें छिपाने के लिए कुछ भी नहीं है। यह केवल जनता के मन में असमंजस पैदा करने की कोशिश है। सरकार पारदर्शी है। आप देखिएगा कि जनता किसी और से अधिक नरेन्द्र मोदी पर विश्वास करती है।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed