रेप रोकने के लिए सरकार ने फांसी की सज़ा देने का किया ऐलान – Rajasthan Government

Death Penalty

नई दिल्ली : दिन रात दरिंदों के द्वारा कि गयी रेप केस जैसे घिनोनी हरकते हर दिन बढ़ती ही जा रही है। जवान से लेकर बुजुर्ग औरतों के साथ रेप केस की घटना जितनी आम हो गयी है, उसी तरह अब नाबालिग बच्चियां  इस गिरी हुई वाहियात वारदात का शिकार हो रही है। Rajasthan में 12 वर्ष की पीड़ित बच्चियों को रेप का शिकार होते देख राजस्थान सरकर ने दरिंदों के खिलाफ ठोस कदम उठा लिया है। यहा की विधानसभा द्वारा 12 वर्ष तक की बच्चियों के साथ रेप करने वालो को फांसी की सज़ा (Death Penalty) दी जाने का प्रस्ताव पास कर दिया गया है। Rajasthan में महिलाये की चिंताजनक स्तिथि का प्रूफ (Proof) तो  राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरों यानी की एनसीआरबी के आंकड़ों ने ही दे दिया। देशभर में 98 हजार 344 बच्चों के अपराधों में से Rajasthan में 4 हजार 34 मामले थें। गृह मंत्री गुलाब चंद कटारिया द्वारा यह भी कहा गया था कि, राजस्थान सरकर में भी मध्य प्रदेश के सरकार की तर्ज पर नियम (Rules) लागु करने की तयारी चल रही है।

मध्य प्रदेश (M.P) की सरकार द्वारा की गयी थी पहल

वर्ष 2017 नवम्बर में मध्य प्रदेश की सरकार द्वारा अपराधों को रोकने के लिए कुछ बड़े कदम उठाये गये थे और सभी रेप करने वाले अपराधियों को फांसी की सज़ा (Death Penalty) देने का ऐलान कर दिया गया था। साथ ही कैबिनेट ने भी रेप रोकने के लिए फांसी के प्रस्ताव पर भी आखरी मुहर लगाकर पास कर दी गयी थी। इतना ही नहीं बाल्की महिलाओं से गैंगरेप करने पर भी मौत की सज़ा का प्रस्ताव पास कर दिया गया है, सभी और (Rapist) सज़ा और जुर्माना देने के दंड की भी मंजूरी मिल गयी है। मध्य प्रदेश के इस फैसले का समान करते हुए अन्य राज्ये भी इस पर अध्यन कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *