अयोध्या में राम मंदिर के लिए पांच अगस्त को हो सकता है भूमि पूजन

Written by

अयोध्या में राममंदिर निर्माण का कार्यक्रम तय हो गया है। अयोध्या में राम मंदिर के लिए पांच अगस्त को भूमि पूजन हो सकता है। श्री राम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट की तरफ से प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) को तीन और पांच अगस्त की तारीख भेजी गई थी। श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की अयोध्या में आयोजित बैठक में यह फैसला लिया गया। ट्रस्ट ने भूमि पूजन के अवसर पर प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी को आमंत्रित करने का निर्णय लिया है। मंदिर निर्माण की तिथि पर अंतिम फैसला प्रधानमंत्री कार्यालय लेगा।

कोरोना महामारी और सीमाओं पर तनाव के बाद देश में बदलते परिदृश्य को ध्यान में रखते हुए राममंदिर ट्रस्ट ने यह तय किया है कि मंदिर के लिए भूमि पूजन की तारीख पर अंतिम फैसला प्रधानमंत्री की अयोध्या यात्रा की तिथि तय हो जाने के बाद ही लिया जाएगा।

ट्रस्ट के सदस्य कामेश्वर चौपाल ने बताया कि प्रधानमंत्री अयोध्या आने के लिए तैयार हो गए हैं। उन्होंने कहा कि मंदिर के डिजाइन को लेकर कुछ बदलाव किया गया है। मंदिर में दो शिखर की जगह अब पांच शिखर बनाए जाएँगे। मंदिर की ऊंचाई भी बढ़ा कर एक सौ 61 फुट करने का फैसला लिया गया है।

ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने बताया कि ,”अयोध्या राम मंदिर के भूमिपूजन के लिए तारीखें प्रधानमंत्री कार्यालय को भेजी गई हैं। देश में मौजूदा स्थिति को देखते हुए अंतिम निर्णय पीएमओ द्वारा लिया जाएगा।”

चंपत राय ने बताया कि राममंदिर निर्माण का काम पूरा होने में तीन से साढ़े तीन साल लग जाएँगे।

Article Tags:
Article Categories:
News

Comments are closed.

Shares