आरपीएफ अधिकारी की कर्तव्‍यनिष्‍ठा और साहस से सभी के दिलों को जीता

Written by

रेल और वाणिज्य तथा उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने आरपीएफ कांस्टेबल  इंदर सिंह यादव के मानवीय कार्य की सराहना की और उन्हें सम्मानित करने के लिए नकद पुरस्कार की घोषणा की। इंदर सिंह यादव 4 महीने के एक बच्चे के लिए दूध पहुंचाने के लिए ट्रेन के पीछे भागे और उन्‍होंने कर्तव्यनिष्ठ भावना का प्रदर्शन किया।

शरीफ हाशमी अपने पति हसीन हाशमी और अपने 4 महीने के बच्चे के साथ बेलगाम से गोरखपुर जाने वाली श्रमिक स्पेशल ट्रेन में यात्रा कर रही थीं। उनका बच्चा दूध के लिए रो रहा था, क्योंकि पिछले किसी भी स्टेशन पर उन्‍हें बच्चे के लिए दूध नहीं मिल पा रहा था। श्रीमती हाशमी ने भोपाल स्टेशन पर कांस्टेबल श्री यादव से मदद मांगी।

इंदर सिंह यादव तुरंत दौड़कर भोपाल स्टेशन के बाहर एक दुकान से दूध का पैकेट ले आए लेकिन ट्रेन चलने लगी। कांस्टेबल ने चलती ट्रेन के पीछे भागकर अपनी मानवता और साहस का परिचय दिया और कोच में महिला को दूध का पैकेट प्रदान किया।

Article Tags:
Article Categories:
News

Comments are closed.

Shares