BIG BREAKING : 20 वर्षों में 546 पदक जीतने वाला RUSSIA नहीं होगा टोक्यो ओलंपिक का हिस्सा

रिपोर्ट : कन्हैया कोष्टी

अहमदाबाद 9 दिसंबर, 2019 (युवाPRESS)। अरब देश क़तर में आयोजित होने वाले टोक्यो ओलंपिक गेम्स 2020 में इस बार रूस का झंडा नहीं दिखाई देगा। जिस रूस ने 20 वर्षों में 13 ओलंपिक (समर-विंटर) खेलों में 546 पदक जीते हैं, उस रूस देश पर आगामी चार वर्षों के लिए किसी भी अंतरराष्ट्रीय खेल प्रतियोगिता में भाग लेने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। विश्व डोपिंग रोधी एजेंसी (WADA) ने सोमवार को इस आशय की घोषणा कर दी। घोषणा के अनुसार रूस की कोई भी खेल टीम किसी भी खेल प्रतियोगिता में अगले चार वर्षों तक हिस्सा नहीं ले सकेगी। वाडा की इस घोषणा का सीधा अर्थ यह है कि रूस 2023 तक किसी भी खेल प्रतियोगिता में भाग नहीं ले सकेगा, जिसके चलते टोक्यो में 2020 में आयोजित होने वाले समर ओलंपिक ही नहीं, अपितु क़तर में 2022 में आयोजित होने वाले FIFA फुटबॉल वर्ल्ड कप में भी रूसी खिलाड़ी हिस्सा नहीं ले सकेंगे।

वाडा ने नवंबर के अंत में ही संकेत दिए थे कि डोपिंग के गंभीर आरोपों के चलते रूस पर प्रतिबंध लगाया जा सकता है। वाडा प्रमुख यरी गानुस, जो स्वयं रूसी हैं, ने गत 26 नवंबर को कहा था कि उन्हें लगता है कि वाडा रूस को चार वर्षों के लिए सभी खेलों से प्रतिबंधित करने की अनुशंसा स्वीकार कर लेगी। यह अनुशंसा वाडा के महत्वपूर्ण पैनल ने की थी। पैनल ने मॉस्को (रूस) पर वाडा के जाँचकर्ताओं को सौंपे गए प्रयोगसाला के आँकड़ों में हेराफेरी का आरोप लगाया था। यूरी ने कहा था कि डोपिंग संकट के कारण रूस को नए खेल प्रबंधन की आवश्यकता है। उन्होंने राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से हस्तक्षेप करने की मांग की थी, परंतु वाडा ने 9 दिसंबर यानी आज अपना निर्णय सुना दिया, जिसके चलते रूस पर अगले चार वर्षों के लिए सभी खेलों पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।

शीर्षस्थ और प्रतिष्ठित प्रदर्शन रहा है रूस का

पूर्ववर्ती सोवियत संघ तो वर्ष 1900 से ओलंपिक खेलों में भाग ले रहा है, परंतु बात यदि वर्तमान रूस की करें, तो 1994 से 2014 के दौरान आयोजित ओलंपिक खेलों में पूरे 546 पदक जीते हैं। इन 546 पदकों में 195 स्वर्ण पदक, 163 रजत पदक और 188 कांस्य पदक शामिल हैं। 1996 से 2016 तक तो रूस पदक तालिका में टॉप 4 में रहता आया है। रूस ने सर्वाधिक 32 स्वर्ण पदक सिडनी समर ओलंपिक 2000 में जीते थे। इस ओलंपिक में रूसी खिलाड़ियों ने 28 रजत और 29 कांस्य पदक भी जीते थे और रूस की रैंकिंग 2 थी। रूस की समर ओलंपिक रैंकिंग पर दृष्टि डालें, तो अटलांटा ओलंपिक 1996 में 2, सिडनी ओलंपिक 2000 में 2, एथेंस ओलंपिक 2004 और बीजिंग ओलंपिक 2008 में 3-3 और लंदन ओलंपिक 2012 व रिया डि जैनेरियो ओलंपिक 2016 में 4-4 रही थी। इसी प्रकार विंटर ओलंपिक में रूस ने Lillehammer 1994 में पहली रैंकिंग हासिल की थी। नगानो ओलंपिक 1998 में 3, सॉल्ट लेक सिटी ओलंपिक 2002 में 5, तुरिन ओलंपिक 2006 और Vancouver ओलंपिक 2010 में 11 रैंकिंग हासिल की थी। इसी प्रकार सोचि (SOCHI) ओलंपिक 2014 में रूस पहले स्थान पर रहा था।

You may have missed