Bitcoin को लेकर क्या है सरकार का इरादा ?

Written by
SEBI

Cryptocurrency, Bitcoin को लेकर बाजार में बहुत हलचल है। RBI, SEBI और सरकार से कानूनी मान्यता नहीं मिलने के बावजूद भारत में वर्तमान में 4 Bitcoin exchange है। रिस्क होने के बावजूद इंवेस्टर लगातार इसमें इंवेस्ट कर रहे हैं। जो लोग cryptocurrency मार्केट में इंवेस्ट करने के समर्थन में हैं उनका कहना है कि अगर धीरे-धीरे लोग यह मानने लगे कि यह भी एक करेंसी जैसा है तो cryptocurrency की मान्यता बढ़ जाती है। हालांकि उनका यह भी कहना है कि अभी तक विश्व में डिजिटल करेंसी को पूर्ण रूप से कानूनी मान्यता नहीं मिली है इसके बावजूद बाजार में क्रिप्टोकरेंसी को एक्सेप्ट किया जाने लगा है। अगर बाजार में इसका प्रभाव बढ़ता है तो हो सकता है कि आने वाले दिनों में इसे कानूनी मान्यता भी मिल जाए।

SEBI किप्टोकरेंसी को लेकर काफी सेंसेटिव

शायद यही वजह है कि Regulatory body, SEBI क्रिप्टोकरेंसी को लेकर काफी sensitive हो गया है। SEBI के चेयरमैन Ajay Tyagi ने कहा कि वर्तमान में cryptocurrency से economy को किसी तरह का नुकसान नहीं है लेकिन “we can’t ignore it at all”. लगातार बढ़ रही कीमत की वजह से  भारत में क्रिप्टोकरेंसी में बहुत ज्यादा इंवेस्ट किया जा रहा है। जो लोग क्रिप्टोकरेंसी में इंवेस्टमेंट के समर्थन में हैं उनका ये भी मानना है कि यह एक निश्चित संख्या तक ही माइनिंग की जा सकती है। इसलिए Parallel economy की कल्पना वर्तमान में असंभव जैसा है।आपको बता दें कि Bitcoinकी mining की जाती है और 2.1 करोड़ बिटकाइन ही माइनिंग किए जा सकते हैं। जब ब्लॉक की माइनिंग होती है तो एकसाथ पूरी माइनिंग नहीं हो पाती है। साथ ही एक समय के बाद हर ब्लॉक से निकलने वाली बिटकाइन की संख्या भी घट जाती है।

वर्तमान में करीब 1.3 करोड़ Bitcoin उपलब्ध है

वर्तमान में करीब 1.3 करोड़ Bitcoin उपलब्ध है। जब इसकी संख्या 2.1 करोड़ तक पहुंच जाएगी तो ब्लॉक खुद-ब-खुद बर्बाद हो जाएगा। मतलब इस करेंसी की संख्या लगातार घटती जा रही है। एक अनुमान के मुताबिक वर्तमान में Bitcoin, Ripple और Ethereum का Market capitalization करीब 300 बिलियन डॉलर है।

Article Tags:
· · · ·
Article Categories:
Indian Business · News · Startups & Business

Leave a Reply

Shares