माधव के 24 अवतार और मोदी के ? गिनते जाइए, गिनते-गिनते थक जाएँगे !

Written by

* स्वयं में ‘भारत’ को धारण करने वाले एकमात्र प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी

* हर राज्य-हर शहर की ‘पगड़ी’ में फिट बैठता है प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का मस्तक

रिपोर्ट : कन्हैया कोष्टी

अहमदाबाद, 30 जुलाई, 2019 (युवाPRESS)। पुराणों के अनुसार भगवान विष्णु (जिनके 108 नामों में एक नाम माधव भी है) ने अब तक 23 अवतार लिए हैं। उनका पहला अवतार सनकादि मुनि के रूप में हुआ था, जबकि 23वाँ अवतार भगवान बुद्ध को माना जाता है। पुराणों के अनुसार माधव का 24वाँ अवतार कल्कि के रूप में होगा, जिसे लेकर कई तरह की मान्यताएँ हैं।

माधव के तो 24 अवतार ही हैं, परंतु मोदी के कितने अवतार हैं ? जी हाँ, हम प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की बात कर रहे हैं। मोदी सोमवार को अचानक एक नए अवतार में दुनिया के सामने प्रकट हुए। मोदी डिसकवरी चैनल के लोकप्रिय टेलीविज़न शो मैन वर्सिस वाइल्ड में एक नए ही अवतार में दिखाई दिए। शो के होस्ट बेयर ग्रिल्स ने ट्विटर पोस्ट में मोदी के नए अवतार को दुनिया के सामने सोमवार को प्रकट किया, जिसमें उन्होंने कहा कि दुनिया के 180 देशों के लोग आगामी 12 अगस्त को दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के एक अनदेखे पहलू से परिचित होंगे। यह कार्यक्रम डिसकवरी चैनल पर 12 अगस्त को प्रसारित होने वाला है। मोदी को नए अवतार में देखने के लिए लोग उत्साहित व उत्सुक हैं, परंतु इससे पहले भी मोदी अपने पाँच वर्ष से अधिक के कार्यकाल में अनेक रूपों में लोगों के सामने आ चुके हैं। आज हम आपको मोदी के अलग-अलग अंदाज़ और रूप के बारे में बताने जा रहे हैं।

जैसा देश-वैसा वेश – स्वयं में किया भारत का अवतरण

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी वैसे तो राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) की पृष्ठभूमि से आते हैं। ऐसे में उनका संघ की वेशभूषा वाला लुक तो जगजाहिर है, परंतु उन्होंने अपने आपको अलग-अलग अंदाज़ में ढालने का आरंभ 7 अक्टूबर, 2001 को गुजरात का मुख्यमंत्री बनने के बाद आरंभ किया। इससे पहले तक वे भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी-BJP) संगठन में काम कर रहे थे। गुजरात का मुख्यमंत्री बनने के बाद ही वे जनता से सीधे रूप से जुड़ने लगे और उन्होंने 13 वर्षों तक गुजरात में शासन के दौरान गुजरात के अंचलों सौराष्ट्र, कच्छ, मध्य गुजरात, उत्तर गुजरात और मध्य गुजरात की स्थानीय सांस्कृतिक व परम्परागत वेशभूषाओं में स्वयं को ढाला, परंतु 2014 में जब भाजपा ने उन्हें प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित किया, तब मोदी ने देश के 31 राज्यों की स्थानीय परम्परागत वेशभूषाओं वाले अलग-अलग लुक अपनाने की शुरुआत की। 26 मई, 2014 को प्रधानमंत्री बनने से पहले नरेन्द्र मोदी ने लोकसभा चुनाव 2014 के दौरान स्वयं में भारत का अवतरण किया और जिस राज्य-जिस शहर में रैली हुई, वहाँ की वेशभूषा को धारण कर जनता को आकर्षित करने का सफल प्रयास किया।

देखिए नरेन्द्र मोदी के लोकसभा चुनाव 2014 के प्रचार अभियान के दौरान धारण किए गए अवतार :

मोदी का डुलमुक लुक

यह चित्र अरुणाचल प्रदेश के पासीघाट का है, जहाँ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एक रैली को संबोधित कर रहे हैं। मोदी ने अरुणाचल प्रदेश की परम्परागत वेशभूषा डुलमुक पहन रखी है।

मोदी का पंजाबी लुक

पंजाब में भाजपा और शिरोमणि अकाली दल (एसएडी-SAD) की संयुक्त रैली में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पंजाबी लुक में नज़र आए, जिसमें उन्होंने सिर पर सिख पगड़ी धारण की है।

मोदी का असमिया लुक

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने असम के सिल्चर में आयोजित ‘बरक बिकास समाबेश’ रैली के दौरान असमिया वेशभूषा कोयेट पगड़ी धारण की थी।

इम्फाल-गुवाहाटी में मोदी के लुक्स

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मणिपुर की राजधानी इम्फाल में मणिपुरी लुक में, तो असम की राजधानी गुवाहाटी में असमी जपी वेशभूषा में नज़र आए।

गुजराती लुक में मोदी

अहमदाबाद में पाँच दिवसीय हस्तशिल्प प्रदर्शनी में गुजराती वेशभूषा में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी।

कर्नाटकी लुक में मोदी

कर्नाटक के दावणगिरी में आयोजित चुनावी रैली में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी कर्नाटकी वेशभूषा में दिखाई दिए।

पीएम मोदी के कई अवतार

रेवाड़ी में आयोजित रैली में हरियाणवी अंदाज़ में तलवार निकालते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, तो कर्नाटक के मेंगलुरू में फिर एक बार एक अलग स्थानीय अवतार में नज़र आए पीएम मोदी।

सौराष्ट्र की पगड़ी वाला आकर्षक लुक

गांधीनगर के टाउन हॉल में अपने 64वें जन्म दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सौराष्ट्र की पगड़ी वाले लुक में नज़र आए।

प्रधानमंत्री बनने के बाद पीएम मोदी

26 मई, 2014 को पहली बार प्रधानमंत्री बनने के बाद भी नरेन्द्र मोदी ने स्वयं को भारत के विभिन्न रूपों, भारत की विविधतापूर्ण संस्कृतियों, विविधतापूर्ण वेशभूषाओं में जनता के समक्ष प्रकट किया। मोदी जिस राज्य में गए, उसी राज्य के हो गए। उन्होंने बंगाल में बंगाली वेशभूषा, तो असम में असमिया परम्परागत वेशभूषा धारण की। मोदी ने अलग-अलग राज्यों में जाकर वहाँ की परम्परागत संस्कृति की प्रतीक समान पगड़ियाँ धारण करने में भी कोई संकोच नहीं किया।

देखिए मोदी के अनेक अवतारों की एक झलक :

Article Categories:
News

Comments are closed.

Shares