श्री राधा अष्टमी और स्वामी श्री हरिदास महाराज के जन्म उत्सव पर श्री बांके बिहारी मंदिर के सेवायत श्री अनंत बिहारी गोस्वामी जी ने दी हार्दिक बधाई

Written by

श्री राधा अष्टमी और स्वामी श्री हरिदास महाराज के जन्म उत्सव के पावन पुनीत अवसर पर वृंदावन के श्री बांके बिहारी मंदिर के सेवायत श्री अनंत बिहारी गोस्वामी जी ने हार्दिक बधाई दी। गोस्वामी जी ने कहा आज राधा अष्टमी के मौके पर श्री राधा रानी आप सभी की इच्छाएं पूरी करें और उनका अनुग्रह आप पर बना रहे। श्री अनंत बिहारी गोस्वामी जी ने श्री हरिदास जयंती की भी हार्दिक शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि

“राधा राधा नाम रटत है जो नर आठो याम

तिनकी बाधा दूर करत है राधा राधा नाम

आज स्वामी हरिदासजी महाराज का जन्मोत्सव है। 15वीं शताब्दी में निधीवन में स्वामी हरिदास के समक्ष बिहारी जी देवता रूप में प्रकट हुए थे। स्वामी हरिदास और कोई नहीं, ललिता सखी ( गोलोका  वृंदावन में) हैं, जो श्रीराधा रानी और कृष्ण की अष्ट सखियों में  से एक हैं । बांके बिहारी जी की प्राकट्य  जगह आज भी है जो आज भी निधिवन में पूजी जाती है।

स्वामी हरिदास भगवान की प्रसन्नता के लिए रसिया (दिव्य और भावपूर्ण) भजन गाते थे और उनकी आंखों के ठीक सामने हर समय श्रीमति राधारानी और कृष्ण के दर्शन चाहते थे।

यह दर्शन साधारण नहीं था लेकिन वह चाहते थे  कि राधा और कृष्ण एक साथ युगल रूप में हों। चूंकि दिव्य युगल भक्त की इच्छा के अनुसार बांके बिहारी जी देवता के रूप में प्रकट हुए।

Article Categories:
News

Comments are closed.

Shares