विपक्षी पार्टी को एक करने के लिए सोनिया गांधी ने की डिनर का आयोजन

sonia gandhi dinner party

नई दिल्लीः आज UPA पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी ने Dinner Party का आयोजन किया है। इस आयोजन में 17 विपक्षी पार्टियों के नेता के शामिल होने की संभावना है। इसमें राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के पुत्र और बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव भी शामिल होंगे। इसके अलावा Dinner Party में झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी, झारखंड मुक्ति मोर्चा के हेमंत सोरेन और बिहार से जीतन राम मांझी शामिल होंगे जो हाल ही में NDA छोड़ RZD के साथ आए हैं, जो कांग्रेस की सहयोगी हैं। इस बीच सोनिया गांधी के Dinner Party पर बिहार में सियासत तेज हो गई है। केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह का कहना है कि सोनिया गांधी गिरती हुए शाख को बचाने की कोशिश में लगीं हैं। UPA पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी लालू से मिलने जेल भी जा सकती है। लेकिन शाख उसी की बचेगी जिसको जनता चाहेगी।

हांलांकि आयोजित किए जार रहे इस डिनर को बिहार की सियासत के नजरिए से इसलिए भी अहम माना जा रहा है, क्योंकि महागठबंधन की रासते से मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार के अलग होने के बाद विपक्ष के रूप में बिहार में राजद-कांग्रेस की भूमिका बढ़ गई है। बिहार में तीन सीटों पर उपचुनाव की प्रक्रिया अंतिम दौर में है और राज्यसभा की छह सीटों पर दोनों दलों की सहभागिता मायने रख रही है।

बहराहल सूत्रों के अनुसार BSP को भी इस डिनर के लिए न्यौता भेजा गया है, हो सकता है कि मायावती इसमें किसी भी नेता को न भेजें क्योंकि कर्नाटक विधानसभा में पार्टी ने जनता दल Secular के साथ समझौता कर रखा है। यह आयोजन दिल्ली स्थित सोनिया गांधी के आवास 10 जनपथ में किया गया है। माना जा रहा है कि इस डिनर के बाद आगामी लोकसभा चुनाव में विपक्षी दलों की एकता को बल मिल सकता है। UPA पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधि ने पहले ही आम चुनाव को लेकर विपक्षी दलों से मतभेद भुलाकर साथ आने की अपील कर चुकी है। दरअसल इन सारे परिस्थितियों के दौरान राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव जेल में हैं। जिसके चलते उनके सारे विरासत को उनके बेटे तेजस्वी यादव संभाल रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *