भूतों की वजह से खाली किया सरकारी बंगला, पूर्व स्वास्थ मंत्री तेजप्रताप यादवः बिहार

Written by
Tej Pratap Yadav

पटनाः सरकारी बंगले में रह रहे पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव के बेटे बिहार के पूर्व स्वास्थ मंत्री तेजप्रताप यादव (Former Health Minister Tej Pratap Yadav) ने भूत का आरोप लगाते हुए बंगला खाली कर दिया है। उनका कहना है कि विहार के वर्तमान मुख्यमंत्री नीतीष कुमार तथा उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने भूतों को खुला छोड दिया है।

बताया जा रहा है कि राजधानी पटना में स्थित यह बंगला स्वास्थ मंत्री Tej Pratap Yadav को पिछली सरकार में रहने के दौरान ही दिया गया था। गोरतलब यह है कि पिछले साल राष्ट्रीय जनता दल, जनता दल यूनाइटेड तथा कांग्रेस के महागठबंधन की सरकार की गिरजाने तथा मुख्यमंत्री नीतिश कुमार के भारतीय जनता पार्टी के साथ मिलकर अपना सरकार बना लिया था। उसके बाद कई राजनेताओं से सरकारी बंगले खाली करने के लिए कहा गया था। जिसमें बिहार के स्वास्थ मंत्री तेजप्रताप यादव भी शामिल थे।

हांलाकि सरकारी बंगले खाली करने के आदेश के विरुद्ध पिछले साल अक्टूबर में आरजेडी के कुछ पूर्व मंत्री ने राजधानी पटना के हाईकोर्ट पहुंचे थे। जहां आदेश पर स्टे लगा दिया गया। जिसके बाद सरकार ने बंगलों में रह रहे नेताओं को बंगले का किराया अदा करने के लिए कहा मगर लोगों ने बंगले खाली नहीं किए और अभी तक उस आदेश का पालन नहीं किया है।

स्वास्थ मंत्री तेजप्रताप यादव के भूतों वाले बयानों को लेकर मुख्यमंत्री की पार्टी ने कहा कि यह बयान पब्लिसिटी हासिल करने के लिए दिया है। वहीं जेडीयू का कहना है कि तेजप्रताप यादव एक्यूट अर्टेशन डेफिशिएंसी का है और वह अपने छोटे भाई तेजस्वी यादव से मुकाबला करने की कोशिश कर रहे हैं। जो हमेशा मीडिया के सुर्खियों में छाए रहते हैं।

दरअसल तेजप्रताप यादव को जो बंगला मिला था उसको उन्होंने अधिकतर उपयोग अपने समर्थक से मुलाकात करने के लिए किया, केवल रात के समय वह उस बंगले में जाकर रहते थें। जो बंगला पूर्व मुख्यमंत्री तथा स्वास्थ मंत्री Tej Pratap Yadav की मां राबडी देवी को दिया गया था।

Article Categories:
News

Leave a Reply

Shares