धूमधाम के साथ श्रीबांकेबिहारी लाल का मनाया गया प्राकट्योत्सव

Written by

ठाकुर श्रीबांकेबिहारी के प्राकट्योत्सव की धूम रहेगी। श्रीबांकेबिहारी और निधिवनराज मंदिर में रंग-बिरंगे गुब्बारों और फूलों से सजावट की गई है। दोनों मंदिरों की आभा देखते ही बन रही है। ठाकुरजी के प्राकट्योत्सव पर हजारों श्रद्धालु यहां पहुंचे। इसे लेकर पुख्ता तैयारियां की गई हैं।

ठाकुर श्रीबांकेबिहारी मंदिर के मुख्य सेवायत श्री अनंत बिहारी गोस्वामी जी ने बताया कि संगीत शिरोमणि स्वामी हरिदास ने अपनी भावमयी संगीत साधना के माध्यम से मार्गशीर्ष मास की शुक्ल पक्ष की पंचमी को ठाकुर बांकेबिहारी महाराज का प्राकट्य किया था, तभी से इस दिन को भक्त समाज में बिहार पंचमी के रूप में मनाया जाता है। इस अवसर पर ठाकुरजी पीत पोशाक धारण कर श्रद्धालुओं को दर्शन देंगे।

श्री अनंत बिहारी गोस्वामी जी ने बताया कि ठाकुरजी के प्राकट्योत्सव पर सुबह पांच बजे वेद मंत्रोच्चारण एवं केलिमाल के पदों के गायन के मध्य ठाकुर बांकेबिहारी की प्राकट्य स्थली का दूध, दही, मेवा, घी, बूरा, शहद, गंगा जल, यमुना जल, केसर के इत्र एवं जड़ी बूटियों से महाभिषेक किया जाएगा। इसके बाद ठाकुरजी की प्राकट्य स्थली की विशेष आरती की जाएगी।

चांदी के रथ में विराजमान होकर निधिवनराज मंदिर से ठाकुर बांकेबिहारी मंदिर तक बधाई शोभायात्रा लेकर जाएंगे। इस दौरान देश के विभिन्न शहरों से आए पांच बैंड एवं नफीरी समेत परंपरागत भजन संकीर्तन मंडलियां शामिल होंगी। शोभायात्रा में भगवान गणेश, भगवान जगन्नाथ, स्वामी विठ्ठलविपुल महाराज एवं स्वामी हरिदास महाराज का डोला मुख्य आकर्षण होंगे।

श्री अनंत बिहारी गोस्वामी जी ने बताया ने बताया कि बिहार पंचमी के दिन ठाकुरजी के बाल रूप को पीत वस्त्र, शृंगार के लिए स्वर्ण आभूषण, विभिन्न प्रकार के सुगंधित पुष्प, मेवा-युक्त हलवा-खीर एवं 56 भोग अर्पित किए जाते हैं। बिहार पंचमी के दिन श्रीबांकेबिहारी जी के प्राकट्य के साथ-साथ ही स्वामी हरिदास जी महाराज की बिहारीजी के प्रति अनन्य भक्ति को भी याद करने का दिन है।

एक श्रद्धालु ने ठाकुर बांकेबिहारी को अमेरिकी डॉलर का हार भेंट किया। यह अनोखा हार प्राकट्योत्सव पर बांकेबिहारी को पहनाया गया। अन्य श्रद्धालुओं के लिए यह हार आकर्षण का केंद्र बना रहा।

श्री अनंत बिहारी गोस्वामी जी ने सभी भक्तजनों को बिहार पंचमी की शुभकामनाएं दी और और ठाकुर जी के प्राकट्योत्सव में शामिल होने का न्योता दिया

Article Categories:
News

Comments are closed.

Shares