भारत को धर्मनिरपेक्षता का पाठ पढ़ाने वाले इमरान खान पढ़ लें प्यू रिसर्च सेंटर की यह रिपोर्ट : 2060 तक भारत ‘इस मामले’ में पूरी दुनिया को कर देगा चित्त

Written by

भारत एक धर्मनिरपेक्ष देश है और यहाँ हिन्दुओं के बहुमत के बीच मुस्लिम, सिख, ईसाई, पारसी सहित अनेक धर्मों के लोग अल्पसंख्यक होने के बावजूद सुरक्षा के साथ रहते हैं, परंतु धर्म यानी मज़हब के नाम पर भारत से अलग हुआ हमारा पड़ोसी पाकिस्तान हमें अक्सर अल्पसंख्यकों विशेषकर मुस्लिमों के साथ अच्छे व्यवहार की सलाह देता रहता है।

इसमें भी न्यू पाकिस्तान के नारे के साथ प्रधानमंत्री बने इमरान खान ने भी कुछ महीनों पहले भारत में अल्पसंख्यकों के साथ दुर्व्यवहार पर टिप्पणी की थी, जिस पर भारत के कट्टर इस्लामिक नेता असदुद्दीन ओवैसी सहित सभी क्षेत्र के लोगों ने इमरान पर करारे प्रहार किए थे।

स्वयं को इस्लाम की धरोहर और मुस्लिमों का मसीहा समझने वाला पाकिस्तान यह अच्छी तरह जानता है कि उसके यहाँ हिन्दू अल्पसंख्यकों की स्थिति क्या है और भारत में पाकिस्तान से अधिक मुस्लिम आबादी है, जो सुख-चैन से रहती है। यदा-कदा होने वाले साम्प्रदायिक दंगे भारत का आंतरिक मामला है।

अब पाकिस्तान को एक अंतरराष्ट्रीय रिपोर्ट से अपने इस अभियान को लेकर एक और करारा झटका लगेगा कि इस्लाम और मुस्लिमों की भलाई सोचने का काम वही कर सकता है। वास्तव में अमेरिकी थिंक टैंक प्यू रिसर्च सेंटर ने वैश्विक मुस्लिम आबादी पर नए आँकड़े प्रस्तुत किए हैं, जिसके अनुसार 2060 तक भारत पाकिस्तान सहित कई देशों को मात देते हुए विश्व की सर्वाधिक मुस्लिम जनसंख्या वाला देश बन जाएगा। हिन्दुओं को घबराने की जरूरत नहीं है, क्योंकि वे बहुसंख्यक ही रहेंगे। इस रिपोर्ट के अनुसार विश्व में 2015 तक मुस्लिमों की जनसंख्या 17,55,26,20,000 (17 अरब 55 करोड़ 26 लाख 20 हजार) है, जो 2060 तक बढ़ कर 29,87,39,00,000 (29 अरब 87 करोड़ 39 लाख) हो जाएगी।

प्यू रिसर्च सेंटर की रिपोर्ट में 2060 में सर्वाधिक मुस्लिम जनसंख्या वाले देशों की जो सूची दर्शाई गई है, उसमें भारत नंबर 1 पर है। हाल में विश्व में सर्वाधिक मुस्लिम जनसंख्या वाला देश इंडोनेशिया है, जहाँ 21,99,60,000 (21 करोड़ 99 लाख 60 हजार) मुस्लिम रहते हैं और 19,48,10,000 (19 करोड़ 48 लाख 10 हजार) की मुस्लिम जनसंख्या के साथ भारत दूसरे स्थान पर है, जबकि इस्लाम और मुस्लिमों की तथाकथित भलाई की दुहाई देने वाले पाकिस्तान में सिर्फ 18,40,00,000 (18 करोड़ 40 लाख) मुस्लिम ही रहते हैं और वह तीसरे स्थान पर है। चौथे स्थान पर बांग्लादेश और पाँचवें स्थान पर नाइज़ीरिया है।

प्यू रिसर्च सेंटर की रिपोर्ट के मुताबिक 2060 में भारत में मुस्लिमों की जनसंख्या 33,30,90,000 (33 करोड़ 30 लाख 90 हजार) तक पहुँच जाएगी, जो भारत की कुल जनसंख्या का 19.4 प्रतिशत, जबकि दुनिया की कुल जनसंख्या का 11.1 प्रतिशत होगा। हिन्दू जनसंख्या बहुमत में ही रहेगी। रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान दूसरे, नाइज़ीरिया तीसरे और हाल में नंबर 1 पर चल रहा इंडोनेशिया चौथे स्थान पर आ जाएगा। इसी प्रकार बांग्लादेश पाँचवें, मिस्र छठे, इराक सातवें, तुर्की आठें, ईरान नौवें और अफग़ानिस्तान 10वें स्थान पर आ जाएगा।

आप भी देखिए प्यू रिसर्च सेंटर की पूरी सूची :

Article Categories:
News

Leave a Reply

Shares