1 October से बदल जाएगा Auto Debit Payment का तरीका

Written by

अगर आप भी अपने Mobile Bill, OTT Streaming Platform Payment या इस तरह की सेवाओं के भुगतान के लिए Debit and credit cards पर Auto-debit सुविधा का इस्तेमाल करते हैं, तो Reserve Bank of India (RBI) के नियम के कारण, आपको 1 October से कुछ लेन देन में दिक्कत हो सकती है। Axis and HDFC सहित कई बैंकों ने अपने ग्राहकों को Auto-debit payment के लिए नियमों में बदलाव के बारे में ग्राहकों सूचित करना शुरू कर दिया है।

ग्राहकों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए RBI ने,Card से भुगतान के लिए नए सुरक्षा उपायों को अपनाया है। HDFC bank ने अपनी Website पर यह लिखा है कि, “1 अक्टूबर से HDFC Bank Credit Card / Debit Card पर Merchant Website/App पर दिए गए किसी भी स्थायी निर्देश (आवर्ती भुगतानों के प्रसंस्करण के लिए ई-मैंडेट) को तब तक मंजूरी नहीं देगा, जब तक कि वह RBI की अनुपालन प्रक्रिया के अनुसार न हो।”

Reserve Bank of India (RBI) ने Recurring online लेनदेन पर ई-जनादेश के लिए एक रूपरेखा जारी की थी। इसनेDebit cards, credit cards, UPI and other prepaid payment instruments (PPI) पर 5,000 रुपये से कम के सभी आवर्ती लेनदेन के लिएAFA (Additional Factor of Authentication) अनिवार्य कर दिया है। यह निर्देश उन सभी आवर्ती भुगतानों पर लागू होता है जो पहले mobile, utility, अन्य आवर्ती बिलों के साथ-साथ OTT Streaming Services जैसे सदस्यता भुगतान के लिए ग्राहकों के Card (Credit/Debit/Prepaid) से अपने आप डेबिट हो जाते थे।

क्या है पूरी प्रक्रिया
Bank को लेन-देन से पहले ग्राहक को SMS and Email के माध्यम से एक सूचना भेजना होगा। एक Mandate debit होने से 24 घंटे पहले बैंकों द्वारा ग्राहकों को सूचित किया जाएगा। जिससे ग्राहकों के पास भुगतान में बदलाव करने या उसे कैंसिल करने का पर्याप्त वक्त होगा। हालांकि, गाहकों को यह जरूर देख लेना चाहिए कि, उनका मौजूदा Mobile number उनके Debit या credit card से लिंक हो। क्योंकि, आपके Registered mobile number पर ही आपको यह मैसेज प्राप्त होगा।

Article Tags:
· ·
Article Categories:
News

Comments are closed.

Shares