नये साल से पहले निपटा लीजिये ये काम, नहीं तो होना पड़ सकता है परेशान

Written by

रिपोर्ट : विनीत दुबे

अहमदाबाद, 27 दिसंबर, 2019 (युवाPRESS)। वर्ष 2019 समाप्त होने में अब कुछ ही दिन बाकी है। ऐसे में हर कोई नये साल के स्वागत की तैयारियों में लगा है, परंतु इन तैयारियों के बीच कुछ ऐसे काम भी हैं, जिन्हें साल पूरा होने से पहले निपटाना बहुत जरूरी है, अन्यथा नये साल में आपके लिये परेशानियाँ खड़ी हो सकती हैं। दरअसल, नये साल से कुछ नियम बदल जाएँगे। इसलिये आपको जानना बहुत जरूरी है कि वह काम क्या हैं, जिन्हें आपके लिये साल खत्म होने से पहले पूरा कर लेना चाहिये।

1 पैन कार्ड और आधार कार्ड को लिंक करें

आपको अपने पैन कार्ड को अपने आधार कार्ड से लिंक कर लेना चाहिये। इसके लिये आयकर विभाग ने अंतिम तारीख 31 दिसंबर तय की है। यदि आपने यह काम अभी तक नहीं किया है तो जरूरी है कि आप इस काम को इन बाकी दिनों में पूरा कर लें। क्योंकि यदि आपने ऐसा नहीं किया है तो आपका पैन कार्ड नये साल में इन-ऑपरेटिव हो जाएगा, अर्थात् इसकी मदद से आप वित्तीय लेन देन नहीं कर पायेंगे और आपका इनकम टैक्स भी जमा नहीं होगा।

इस प्रकार आपका पैन कार्ड किसी काम का नहीं रह जाएगा। अपने पैन कार्ड और आधार कार्ड को लिंक करने के लिये आप तीन तरीके उपयोग कर सकतें हैं। पैन कार्ड की सेवा प्रदाता की वेबसाइट पर जाकर ‘लिंक आधार टू पैन’ पर क्लिक करें। इससे आप सीधे इनकम टैक्स की वेबसाइट पर पहुँच जाएँगे। इसके अलावा सीधे-सीधे इनकम टैक्स विभाग की ई-फाइलिंग वेबसाइट पर जाकर भी पैन कार्ड को आधार से लिंक कर सकते हैं। हालाँकि जो लोग पैन कार्ड को आधार से लिंक करने के लिये ऑनलाइन प्रक्रिया का उपयोग नहीं करना चाहते हैं, ऐसे लोग एक पेज का फॉर्म भरकर तय किये गये शुल्क के साथ फॉर्म को पैन सेंटर में जमा करा सकते हैं। इस फॉर्म के साथ आपको अपने पैन कार्ड और आधार कार्ड की फोटो कॉपी संलग्न करना जरूरी है।

तीसरा विकल्प एसएमएस का है, जिसकी मदद से भी आप पैन कार्ड को आधार से लिंक कर सकते हैं। आवेदक को 567678 या 56161 पर अपने रजिस्टर्ड नंबर से एसएमएस कर सकते हैं। इस मैसेज़ में एक फॉर्मेंट में पहले 12 डिज़िट के आधार नंबर के बाद स्पेस देकर 10 डिज़िट के पैन नंबर को भेजना होगा। इस प्रकार पैन कार्ड और आधार कार्ड को लिंक करवा कर आप निश्चिंत होकर नये साल को सेलिब्रेट कर सकते हैं।

2 स्टेट बैंक का एटीएम कार्ड बदलें

यदि आप स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) के खाताधारक हैं तो आपको अपना वर्तमान एटीएम कार्ड तुरंत बदलवाना होगा। पुराने एटीएम कार्ड के स्थान पर अब मैग्नेटिक स्ट्राइप वाला नया कार्ड लेना होगा। अपना पुराना एटीएम कार्ड बदलने की अंतिम तारीख भी 31 दिसंबर है। इसके बाद नये साल के पहले दिन से आपका पुराना एटीएम कार्ड काम नहीं करने वाला है, जिससे आप परेशानी में पड़ सकते हैं। एसबीआई की ओर से इसके लिये खाताधारकों को लगातार सूचित और आगाह भी किया जा रहा है कि वह अपना पुराना कार्ड रिप्लेस करके नया ईएमवी चिप वाला कार्ड प्राप्त कर लें। अभी कार्ड बदलने के लिये कोई शुल्क नहीं लिया जा रहा है। इस काम के लिये आपको कोई शुल्क नहीं देना होता है, इसलिये ज्यादा परेशान होने की भी आवश्यकता नहीं है। अपना एटीएम कार्ड बदलने के लिये आपको अपनी शाखा में जाने की जरूरत है, वहां से आपको पूरी जानकारी दी जाती है। इसके अलावा आप इंटरनेट बैंकिंग का उपयोग करते हैं तो आप बैंक की वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन अप्लाई कर सकते हैं।

3 सबका विश्वास योजना हो जाएगी समाप्त

सर्विस टैक्स और एक्साइज़ ड्यूटी से जुड़े पुराने और लंबित विवादित मामलों का निपटारा करने के लिये केन्द्र सरकार की ओर से शुरू की गई ‘सबका विश्वास योजना’ 31 दिसंबर-2019 को समाप्त हो जाएगी। इसके बाद इसे और आगे बढ़ाये जाने की संभावना नहीं है। केन्द्रीय वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने सर्विस टैक्स और एक्साइज़ ड्यूटी से जुड़े पुराने विवादों का समाधान करने के लिये जारी वर्ष के बजट में इस योजना की घोषणा की थी और इसे 1 सितंबर-2019 से लागू किया गया था। इस योजना के तहत पात्र व्यक्तियों को पुराने विवादित मामले में स्वयं ही बकाया कर की घोषणा करते हुए उसका भुगतान करके विवाद को समाप्त करने का प्रावधान किया गया है। इस योजना को समाप्त होने में भी कुछ ही दिन बचे हैं।

4 एनईएफटी ट्रांजैक्शन पर नहीं लगेगा चार्ज

भारतीय रिज़र्व बैंक ने नवंबर में सभी बैंकों को निर्देश दिया था कि वे नये साल से अर्थात् 1 जनवरी 2020 से नेशनल इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर (एनईएफटी) की सुविधा का लाभ  लेने वाले अपने बचत खाता धारकों से कोई चार्ज न लें। इसलिये अब 1 जनवरी-2020 से बचत खाताधारकों को एनईएफटी के माध्यम से किये जाने वाले लेनदेन के लिये कोई शुल्क नहीं देना पड़ेगा। इसके अलावा नोटबंदी की तीसरी वर्षगाँठ पर डिज़िटल लेनदेन को बढ़ावा देने के लिये भारतीय रिज़र्व बैंक ने एक प्रस्ताव पेश करके 16 दिसंबर से एनईएफटी ट्रांजैक्शन की सुविधा चौबीसों घण्टे जारी रखने की भी शुरुआत की है।

5 नया जीएसटी रिटर्न फाइलिंग सिस्टम

केन्द्र सरकार ने जीएसटी रजिस्ट्रेशन को आसान बनाने के लिये आधार के जरिये जीएसटी रजिस्ट्रेशन का निर्णय किया है। इसलिये नये साल से व्यापारी आधार के जरिये जीएसटी के लिये रजिस्ट्रेशन करवा सकेंगे। पहले इसके लिये कई दस्तावेजों की जरूरत होती थी। नया जीएसटी रिटर्न फाइलिंग सिस्टम 1 जनवरी-2020 से लागू होने जा रहा है। जीएसटी रजिस्ट्रेशन के लिये व्यापारी ऑनलाइन अप्लाई कर सकते हैं। इसके बाद उन्हें ओटीपी मिलेगा, जिसके माध्यम से वह जीएसटीएन पोर्टल पर खुद को रजिस्टर करवा कर रजिस्ट्रेशन नंबर हासिल कर सकेंगे।

Article Categories:
News

Comments are closed.

Shares