सड़क परिवहन मंत्रालय ने 30 सितंबर तक बढ़ाई, वाहनों के सभी तरह के कागजातों की वैधता

Written by

सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय के मंत्री नितिन गडकरी ने आज इस साल सितंबर तक मोटर वाहन दस्तावेजों की वैधता तिथि को और बढ़ाने की घोषणा की। केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्रालय ने इस संबंध में सभी राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों को भेजे गए एक परामर्श पत्र में कहा है कि ऐसे दस्तावेजों को 30 सितंबर तक वैध माना जाए।

देशभर में लागू लॉकडाउन और तमाम दफ्तरों के बंद होने के चलते केंद्र सरकार ने वाहनों से संबंधित ऐसे दस्तावेजों की वैधता अवधि को बढ़ाने का फैसला किया है। 25 मार्च को देश में लॉकडाउन लगने के बाद सरकार ने ये फैसला लिया था। फिटनेस, परमिट (सभी प्रकार), ड्राइविंग लाइसेंस, पंजीकरण या किसी अन्य संबंधित दस्तावेज अब 30 सितंबर 2020 तक वैध माने जाएंगे।

अब राज्य / केंद्रशासित प्रदेशों को मोटर वाहन अधिनियम 1988 के तहत उपलब्ध प्रावधानों या अन्य अधिनियमों के तहत परमिट की आवश्यकता में छूट पर विचार करने के लिए, या परमिट के लिए नवीकरण / जुर्माना के लिए शुल्क या करों आदि से राहत प्रदान करने की  अनुमति देने के लिए अनुरोध किया गया है।

Article Categories:
News

Comments are closed.

Shares