सिर्फ 21 के उम्र में फोर्ब्स की लिस्ट में हैं शामिल, करोड़ों का मालिक बना

Trishneet Arora - The Successful CEO

नई दिल्ली: जो युवा लगभग 25 साल के उम्र में पढ़ाई को खत्म करने के बाद नौकरी की तलाश में जुट जाते हैं और अपनी जिंदगी को बेहतर बनाने के लिए स्ट्रगल करते रहते हैं वही एक ऐसा भी शख्स है जिसने अपने पढ़ाई को बीच में ही छोड़कर साइबर सुरक्षा विशेषज्ञ बन चुके हैं। हम बात कर रहे हैं लुधियाना में रहने वाले त्रिशनीत अरोड़ा की जो अभी एक यंग CEO बन चुके हैं। बता दें कि इन्होंने कंप्यूटर की पढ़ाई नहीं की है फिर भी इथिकल हैकिंग में अपना नाम फोर्ब्स लिस्ट (Forbes 30 under 30 2018) में नाम दर्ज करा लिया है। Trishneet Arora ने सिर्फ 21 साल के उम्र में अपनी खोल ली थी और इसलिये ही इनको सबसे यंग CEO में गिना जाता है।

Trishneet Arora

एक बार Trishneet Arora 8वीं क्लास में फेल हो गये थें तब घर से उन्हें बहुत ही डांट पड़ी थी। जब इनके माता-पिता ने पूछा तो इन्होंने कहा कि मैं पढ़ना नहीं चाहते इसके बाद माता-पिता ने उन्हें अनुमति दे दी। फिर इन्होंने टीएसी सिक्युरिटी नाम की एक कंपनी खोली जो इस समय करोड़ो रूपये कमा रही है। एक रिपोर्ट के मुताबिक इन्होंने कहा कि मैंने अपने शौक को ही बिजनेस का रूप दे दिया जिसकी वजह से मैं आज यहा तक पहुंचा हूं।

इस समय Trishneet Arora की उम्र 24 साल है और ये लुधियाना के एक मिडिल क्लास फैमली से संबंध रखते है। इनको बचपन से ही कंप्यूटर में बहुत अधिक दिलस्पी थी। इन्होंने 8वीं के बाद पढ़ाई छोड़ दी थी और बाद में 12वीं का एग्जाम दिया। आज इथिकल हैकर की दुनिया में ये बहुत अधिक नाम कमा चुके है। इनको अपना काम शुरू करने के लिए इनके पिताजी ने 75 हजार रूपये दिये थें और इनके पिते ने इनसे कहा था कि ये पैसा तो डूबना है और आज आप देख सकते हैं कि Trishneet Arora की कंपनी करोड़ों रुपये कमा रही है। इसी को कहते हैं कि यदि हौसला बुलंद हो और इरादे पक्के हैं तो दुनिया भी सलाम करती है। हमारे देश के युवा को ऐसे लोगों से प्रेरणा लेनी चाहिए और विश्व में भारत का नाम रौशन करना चाहिए।

आज के समय में CBI से लेकर Reliance Industries त्रिशनीत की कंपनी का क्लाइंट है। सिर्फ 2 साल पहले ही इन्होंने अपनी कंपनी बनाई थी। इन्होने हैकिंग कुछ किताबें भी लिखी है जो इस प्रकार हैं – हैकिंग टॉक विद त्रिशनित अरोड़ा, हैकिंग विद स्मार्टफोन्स और दि हैकिंग एरा। इस समय में इनकी कंपनी का वर्चुअल ऑफिस दुबई और यूके में भी है। वहां से ये लगभग 40% क्लाइंट्स डील करते हैं। दुनिया में लगभग 500 कंपनियां और 50 फॉर्च्यून इनके क्लाइंट्स बन चुके हैं।

साल 2018 में जीको मैगजीन द्वारा 50 सबसे प्रतिभावान और प्रभावशाली युवा भारतीयों में Trishneet Arora का नाम शामिल किया गया था। इनकी कंपनी को विजय केडिया ने फाइनैंस भी किया और आईबीएम के पूर्व उपाध्यक्ष विलियम ने भी इनका समर्थन किया था। युवाप्रेस ऐसे प्रतिभावान युवा को सलाम करती है और इन जैसे लोगों से प्रेरणा लेकर देश के तरीकी में यौगदान देने के लिए युवाओ का आवाहन करती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *