उत्तर प्रदेश विधान परिषद चुनाव का मतदान 26 अप्रैल को होगी

Written by
Legislative council election

लखनऊः- उत्तर प्रदेश के चुनाव आयोग नें Legislative council election (विधान परिषद चुनाव) की तिथि का ऐलान कर दिया है। हांलांकि विधान परिषद की 13 सीटों के लिए 26 अप्रैल को चुनाव होना है। इन सभी सीटें पांच मई को खाली हो रही है। इन सीटों पर चुनाव के लिए केन्द्रीय निर्वाचन आयोग ने सोमवार यानी 2 अप्रैल को कार्यक्रम घोषित कर दिया। चुनाव आयोग के मुताबिक 9 अप्रैल को विधान परिषद चुनाव की अधिसूचना जारी की जाएगी। जबकि नामांकन की अन्तिम तिथि 16 अप्रैल रखी गई है। 17 व 18 अप्रैल को नामांकन पत्रों की जांच की जाएगी, तथा 19 अप्रैल को नाम वापसी की अन्तिम तिथि तय की गई है। विधान परिषद चुनाव 26 अप्रैल को होगा।

इन नेताओं का समाप्त हो रहा है कार्यकाल

 Legislative council Election के के मतदान के रोज ही मतदान के बाद परिणामों की घोषणा कर दी जाएगी। यह मतदान मतदान केंद्र पर सुबह नौ बजे से शाम चार बजे तक होगी। हांलांकि पांच मई को पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव तथा वर्तमान ग्राम्य विकास राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डा. महेन्द्र कुमार सिंह समेत 13 विधान परिषद सदस्यों का कार्यकाल समाप्त हो रहा है। इसमें अम्बिका चैधरी, उमर अली खान, सपा प्रदेश अध्यक्ष नरेश चन्द्र उत्तम, डा. मधु गुप्ता, चैधरी मुश्ताक, राजेन्द्र चैधरी, राम शकल गुर्जर, डा. विजय यादव, डा. विजय प्रताप तथा बसपा के सुनील कुमार चित्तौड़ के नाम शामिल है।

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव नहीं लड़ेगे चुनाव

गोरतलब यह है कि 26 अप्रैल को होने वाले Legislative council Election में इन सभी खाली हो रही सीटों पर नए सदस्यों का निर्वाचन पूरा किया जाएगा। क्योंकि उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने पूर्व में ही लोकसभा चुनाव में उम्मीदवारी करने का ऐलान कर दिया है। इस परिस्थिति में यह जाहीर हो रहा है कि वह इन विधान परिषद चुनावों में भागीदारी नहीं करेंगे। जबकि इसके अलावा सत्तारूढ़ बीजेपी इन चुनावों में अपने कई वरिष्ठ नेताओं को सदन में भेज सकती है। हांलांकि भारतीय जनता पार्टी ने अपने 11 प्रत्याशियों का चयन करने पर मंथन शुरू कर दिया है। विधानसभा में भाजपा और सहयोगी दलों के विधायकों की संख्या नूरपुर के विधायक लोकेन्द्र प्रताप सिंह की मृत्यु के बाद 325 की बजाय अब 324 रह गई है।

बहरहाल प्रत्येक प्रत्याशी को जीतने के लिए लगभग 29 विधायकों के वोट की जरूरत है। खाली हो रही 13 सीटों में से दो भाजपा की हैं। इनमें एक पर ग्रामीण विकास राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डा.महेन्द्र सिंह और दूसरी सीट अल्पसंख्यक राज्य मंत्री मोहसिन रजा की है।

Article Categories:
News

Leave a Reply

Shares