रुला देगा यह VIDEO और दृष्टिकोण बदल देगी यह ख़बर : इतनी आसान नहीं होती पुलिस की नौकरी !

Written by

आपने देखा होगा कि पुलिस भर्ती मेले में हजारों युवाओं की भीड़ उमड़ती है। हर कोई पुलिसवाला बनना चाहता है। कइयों की चाहत देश की सेवा करने की होती है, तो कुछ रुतबे के लिए पुलिस की नौकरी पाना चाहते हैं, परंतु क्या पुलिस की नौकरी इतनी आसान होती है ?

सोशल मीडिया पर इन दिनों जो एक VIDEO वायरल हो रहा है, उसे देखने वाला हर दर्शक एक बार स्वयं भी रो पड़ने को विवश हो जाता है, क्योंकि यह वीडियो देश के उन करोड़ों लोगों की आँखें भी खोलता है, जिनके मन में गर्मी-ठंडी-बरसात सहित अनेक विपरीत परिस्थितियों में काम करने वाले पुलिस की एक नकारात्मक छवि बनी हुई है। आम लोगों के मन में पुलिस को लेकर यह सामान्य छवि है कि पुलिस वाले का समाज में अलग ही रुतबा होता है। उससे सभी डरते हैं। पुलिस वालों को सब कुछ मुफ़्त में मिल जाता है। पुलिस वाले घूस लेकर मोटी कमाई करते हैं, परंतु पुलिस की नौकरी का एक दूसरा पहलू भी है।

जब आप मनाते हैं त्योहार, वे रहते हैं तैनात

घर-परिवार की चिंता न करते हुए कानून-व्यवस्था की सुरक्षा में सदैव तैनात रहते हैं पुलिस वाले। (फाइल चित्र)

हमारा देश उत्सवों का देश कहलाता है। उत्तरायण से लेकर होली-धुलंड, जन्माष्टमी से लेकर नवरात्रि और दीपावली-नूतन वर्ष। ये तो महत्वपूर्ण त्योहार हैं। इसके उपरांत छोटे-बड़े उत्सव, शोभायात्रा, जुलूस, अन्य धर्मों के त्योहार, इसके अलावा हाल में तो लोकतंत्र का त्योहार भी चल रहा है। इन सभी त्योहारों में आप और हम जब परिवार के साथ ख़ुशियाँ मना रहे होते हैं, तब ये पुलिस वाले परिवार से दूर हमारी सुरक्षा में तैनात रहते हैं। इतना ही नहीं, दंगा-अपराध जैसी विपरीत परिस्थितियों में ये पुलिस वाले जान की बाज़ी लगा देते हैं। यह तो सारे अतिरिक्त काम हैं। अपने क्षेत्र में अपराध नियंत्रण, अपराधियों को पकड़ने से लेकर हर छोटी-बड़ी कानून-व्यवस्था बनाए रखने का रूटीन काम तो पुलिस वालों को करना ही पड़ता है। इस दौरान न वे खाने-पीने, न परिवार और न ही अपने निजी जीवन की चिंता करते हैं।

‘बेटा जाने दे… नहीं तो सर डाँटेंगे..’


ओडिशा पुलिस की सीआईडी क्राइम ब्रांच के पुलिस महानिरीक्षक (IG) अरुण बोथरा (फाइल चित्र)

अब बात करते हैं सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो की, जिसमें एक पुलिस वाला ड्यूटी के लिए घर से निकल रहा है, परंतु नन्ही बेटी पिता के साथ जाने की ज़िद में चीख-चीख कर रो रही है। वीडियो में पुलिस वाला अपनी मासूम बेटी से कहता है, ‘बेटा जाने दे… जल्दी आ जाऊँगा… जाने दे, नहीं तो सर डाँटेंगे, जाने दे बेटा…’। यह वीडियो ओडिशा पुलिस की सीआईडी क्राइम ब्रांच के पुलिस महानिरीक्षक (IG) अरुण बोथरा ने अपने ट्विटर अकाउंट पर शेयर किया है और कैप्शन में लिखा है, ‘पुलिस की नौकरी का यब सबसे कठिन हिस्सा है। लम्बे और अनियमित वर्किंग आवर्स की वज़ह से बहुत से पुलिस वालों को इसका सामना करना पड़ता है।’ अरुण बोथरा ने इस वीडियो को शेयर कर यह संदेश देने का प्रयास किया है कि पुलिस विभाग के कर्मचारियों को अपने काम की वज़ह से इतना भी वक्त नहीं मिल पाता कि वे अपने बच्चों से मिल सकें, परिवार को समय दे सकें। अक्सर लोग पुलिस, उसकी कार्यप्रणाली और कर्मचारियों पर प्रश्न उठाते हैं। आवश्यकता है समय निकाल कर एक बार पुलिस कर्मचारियों और उनके परिवारों के बारे में सोचने की।

आप भी देखिए इस VIDEO को और पुलिस को लेकर बदलिए अपनी सोच :

Article Categories:
News

Leave a Reply

Shares