क्यों UP छोड़ सिल्चर दौड़ना पड़ा प्रियंका को ? कांग्रेस के महिला चेहरे को क्यों कड़ी टक्कर दे रहे हैं भाजपा के डॉ. राजदीप रॉय ?

लोकसभा चुनाव 2019 की घोषणा से ऐन पहले राजनीति में प्रवेश करने वाली और सबसे महत्वपूर्ण राज्य उत्तर प्रदेश का उत्तरदायित्व संभालने वाली कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा गत 14 अप्रैल को असम के सिल्चर में रोड शो और जनसभा कर रही थीं। प्रियंका का उत्तर प्रदेश में मचे चुनावी घमासान को छोड़ कर यूँ सिल्चर में चुनाव प्रचार के मैदान में उतरना कई सवाल खड़े कर रहा है।

वैसे असम की सिल्चर लोकसभा सीट के लिए मतदान आज दूसरे चरण में समाप्त हो गया। प्रियंका के सिल्चर पहुँचने पर विश्लेषण करने से पहले आपको यह भी बता देते हैं कि सिल्चर में कांग्रेस की प्रत्याशी सुष्मिता देव और भाजपा के प्रत्याशी डॉ. राजदीप रॉय के बीच मुकाबला था। सुष्मिता हाल में सांसद हैं और महिला कांग्रेस की अध्यक्ष हैं, तो भाजपा के रॉय नए प्रत्याशी हैं। दोनों ही मुख्य प्रतिद्वंद्वियों का चुनावी भविष्य अब इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (EVM) में कैद हो गया है, परंतु प्रियंका के सिल्चर आने से सुष्मिता-कांग्रेस को फायदा हुआ या नहीं ? इसका उत्तर अब 23 मई को ही मिलेगा, जब परिणाम आएँगे।

क्यों सिल्चर पहुँची प्रियंका ?

सिल्चर में कांग्रेस प्रत्याशी सुष्मिता देव के साथ प्रचार करतीं प्रियंका गांधी वाड्रा।

सिल्चर से कांग्रेस की निवर्तमान सांसद और प्रत्याशी सुष्मिता देव ने प्रियंका गांधी वाड्रा के सिल्चर आने को गर्ल पावर की संज्ञा दी और कहा कि जब पिछले दिनों कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी असम दौरे पर थे, तब उन्होंने (सुष्मिता ने) ही राहुल से प्रियंका को सिल्चर का चुनावी दौरा करवाने की गुज़ारिश की थी। यद्यपि उस समय राहुल ने सुष्मिता देव से स्पष्ट कहा था कि प्रियंका फिलहाल उत्तर प्रदेश में व्यस्त हैं, परंतु महिला कांग्रेस अध्यक्ष के लिए इस पर विचार किया जा सकता है। सुष्मिता ने प्रियंका के सिल्चर आने को एक महिला का दूसरी महिला को सहयोग बताया, परंतु कांग्रेस के अंदरूनी सूत्रों का कहना है कि नागरिक संशोधन बिल का कांग्रेस की ओर से किए गए विरोध ने सुष्मिता की दूसरी बार जीत की राह मुश्किल बना दी। यही कारण है कि प्रियंका को सिल्चर पहुँच कर सुष्मिता के लिए प्रचार करना पड़ा।

भाजपा के डॉ. राजदीप रॉय से कड़ी टक्कर

सिल्चर लोकसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी डॉ. राजदीप रॉय ने मतदान के बाद खिंचवाई सेल्फी।

भाजपा ने सिल्चर में डॉ. राजदीप रॉय को उम्मीदवार बनाया है। वे पहली बार सिल्चर से चुनाव लड़ रहे हैं और सुष्मिता देव को कड़ी टक्कर दे रहे हैं। कांग्रेस के एक पदाधिकारी का कहना है कि सुष्मिता मजबूत उम्मीदवार हैं, परंतु नागरिकता संशोधन बिल का विरोध करने का पार्टी का रुख भाजपा और रॉय को मजबूती दे रहा है, क्योंकि बराक घाटी और असम के ऊपरी हिस्सों में डेमोक्रैटिक विरोधाभास बहुत अधिक है, जो कांग्रेस के नागरिकता संशोधन बिल का विरोध करने से नाराज है और इसका सीधा फायदा भाजपा और डॉ. राजदीप रॉय को मिल सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed